पूरी दुनिया को कोरोना से लड़ने का तरीका बताने वाले देश में ठीक हुए मरीज़ दोबारा पॉजिटिव पाए गए

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

कोरोना वायरस को लेकर दक्षिण कोरिया से हैरान कर देने वाले ट्रेंड सामने आ रहे हैं। संकट से लड़ रही दुनिया के लिए राहत के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। एक ओर जहां वायरस से संक्रमित लोगों के इलाज के लिए जद्दोजहद जारी है, वहीं दक्षिण कोरिया से आई एक खबर ने दुनिया भर के चिकित्सकों की चिंता और बढ़ा दी है।

दरअसल खबर के अनुसार दक्षिण कोरिया में शुक्रवार को कोरोना से ठीक हो चुके 91 मरीजों में फिर से वायरस का संक्रमण पाया गया है।

विशेषज्ञों का माने तो ठीक हो चुके मरीजों के फिर से कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के पीछे दोबारा संक्रमण होने की बजाय वायरस के री-ऐक्टिवेट होने का कारण हो सकता है। हालांकि, कोरिया के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने इस तथ्य पर बहुत भरोसा नहीं जताया है। कोरिया के एक और एक्सपर्ट का कहना है कि हो सकता है कि टेस्टिंग किट में कोई गड़बड़ी आ गई हो। अभी डॉक्टरों से लेकर विशेषज्ञों द्वारा इस स्थिति के केवल कयास ही लगाए जा रहे हैं।

कोरिया सेंटर्स फॉर डिज़ीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन यानी केसीडीसी के डायरेक्टर जेओंग यून केयोंग ने इस बारे में मीडिया से बात किया। उन्होंने कहा, “हो सकता है कि ठीक हुए लोगों के शरीर में वायरस फिर से सक्रिय हो गया। इन लोगों के दूसरों से संक्रमित होने की आशंका नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी हमारा मानना है कि फिर से बीमार होने की वजह वायरस का दोबारा सक्रिय होना है। लेकिन इन मामलों में विस्तार से जांच कर रहे हैं। इलाज के दौरान कई बार ऐसा होता है जब मरीज एक दिन नेगेटिव होता है और अगले दिन पॉजीटिव होता है।”

एक अन्य एक्सपर्ट ने कहा कि ऐसी संभावना है कि मरीज फिर से संक्रमित नहीं हुए हो बल्कि उनमें वायरस फिर से ऐक्टिवेट हो गया हो। एक अन्य विशेषज्ञ ने कहा कि टेस्ट का रिजल्ट एक गलती भी हो सकती है या ऐसा भी हो सकता है कि वायरस मरीज के शरीर में छूट गया हो और वह अब उतना खतरनाक न हो कि मरीज को नुकसान पहुंचा सके या फिर किसी और को संक्रमित कर सके। फिलहाल, तो इसकी वजह अभी स्पष्ट नहीं हो पाई है लेकिन इन घटनाओं ने दुनिया भर के लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं। कोरियाई चिकित्सक इसके पीछे के रहस्य का पता लगाने में जुटे हुए हैं।

दक्षिण कोरिया सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए तुरंत सभी चर्च बंद करा दिए। इसके अलावा देश में होने वाले सभी विरोध-प्रदर्शन और बौद्ध कार्यक्रम रद्द कर दिए गए। इतना ही नहीं दक्षिण कोरिया ने मास्क निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया। देश ने अपने चार स्तरीय वायरस अलर्ट को उच्चतम स्तर ‘रेड’ तक बढ़ा दिया।

दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस से अब तक 211 लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार को 27 नए मामले सामने आए। अब तक यहां कोरोना के 10,450 केस सामने आ चुके हैं। खबरों के मुताबिक, दक्षिण कोरिया में एक धार्मिक आयोजन से कोरोना वायरस फैलने की शुरुआत हुई थी। 

Next Post

सिंगरौली में रिलायंस का राखड़ बांध तीसरी बार टूटा और पूरा गांव राख में डूब गया

Sat Apr 11 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले में एक बार फिर से एश डैम के टूटने की वजह से पूरा इलाका प्रभावित हुआ है। शुक्रवार को यहां पर स्थित एक पावर प्लांट का फ्लाई एश डैम टूट गया जिसकी वजह से इलाके की करीब 200 एकड़ की फसल बर्बाद […]