ब्रिटेन में ताबूत खत्म, चादरों में शव लपेट रख रहे डॉक्टर

लंदन

कोरोना महासंकट यहां कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 10 हजार पार

ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 10,612 हो गई। ब्रिटेन में मौत की रफ्तार इतनी तेज है कि अस्पतालों के पास शव को रखने के लिए बॉडी बैग तक नहीं बचे हैं। उन्हें बेड शीट में ही लपेटकर रखा जा रहा है। इन बेड शीट के अंदर भी किसी तरह की कोई प्लास्टिक या और कपड़े का इस्तेमाल भी नहीं हो रहा। केवल एक चादर में ही शव को लपेटा जा रहा है। इससे बाकी लोगों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस हालात को देखते हुए अंतिम संस्कार से जुड़े उन लोगों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है जो तमाम अस्पतालों और शव घरों से मृतकों को लाकर उनका अंतिम संस्कार करते हैं। साथ ही अन्य लोगों को भी वायरस अपनी चपेट में ले सकता है। रिसर्च में सामने आया है कि ये वायरस रेफ्रीजरेटर में भी 3 दिन तक सक्रिय रहते हैं। लोगों का कहना है कि यह आलम केवल एक अस्पताल का नहीं है, बल्कि बहुत से अस्पताल ऐसे हैं जहां यह समस्या है कि उनके पास बॉडी बैग तक खत्म हो गए हैं। इससे पहले ब्रिटेन में दोनों दिन 1000 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई थीं। हालांकि, अब तक देश में सिर्फ 344 लोग ही ठीक हो सके हैं।

नर्स संक्रमित होकर कोमा में गई

ब्रिटेन में एक बहादुर नर्स की हैरतअंगेज कहानी सामने आई है। उस नर्स को करोना वायरस के संक्रमित मरीज का इलाज करने के दौरान पीपीई नहीं दी गई थी। लेकिन इसके बावजूद उसने अपने काम को चुना और मरीज की सेवा में दिनरात लगी रही। अब उस नर्स को खुद वायरस का संक्रमण हो गया है। नर्स जिंदगी और मौत से जूझ रही है। ब्रिटेन में एनएचएस नर्स बेकी उशेर को हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती करवाया गया है। 38 साल की नर्स कोमा में है और उसे सांस देने के लिए वेंटिलेटर पर रखा गया है। मेडिकल स्टाफ बता रहे हैं कि उन्हें पता नहीं था कि मरीज को कोरोना का संक्रमण है। नर्स दो दिनों तक उसकी सेवा में लगी रही। 5 अप्रैल को उसे तेज बुखार और गले में खराश की शिकायत हुई। इसके बाद 7 अप्रैल को नर्स को वेस्ट यॉर्क्स के अपने घर में सांस लेने में तकलीफ होने लगी। नर्स के पार्टनर मार्टिन पार्कर ने 111 की इमरजेंसी सेवा को फोन कर इसकी जानकारी दी। नर्स को वेकफिल्ड के एक हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया।

Next Post

किरदार वाले गुस्सैल 'लक्ष्मण' ने खुद पर बनाये गए मीम पर क्या कहा?

Tue Apr 14 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गयी है। लेकिन इस बीच जो अच्छी बात हुई है वो ये कि रामायण से लेकर शक्तिमान तक आपके बोरियत को दूर करने के लिए वापस से शुरू कर दिए गए हैं। अब इससे जहां लोग नॉस्टैल्जिक हो रहे हैं तो वहीं […]