सड़क पर बिखरे थे 50, 100, 200 और 500 रु के नोट, सेनेटाइज कर पुलिस ने लिया कब्जे में

नगर संवाददाता | इंदौर

बाइक सवार युवकों द्वारा फेंकने की आशंका, जांच में जुटी पुलिस

हीरा नगर थाना क्षेत्र में खातीपुरा धर्मशाला के पास गुरुवार दोपहर सड़क पर बिखरे 50, 100, 200 और 500 रु. के नोटों को देखकर लोगों में हड़कंप मच गया। रहवासियों का आरोप है कि संक्रमण फैलाने की नीयत से ये नोट फेंके गए हैं। मामले में बाइक सवार दो युवकों पर शंका जताई गई है। हालांकि इस बात का कोई प्रमाण नहीं मिला। निगम ने नोटों को सेनिटाइज कर मामला पुलिस को सौंपा। पुलिस सीसीटीवी कैमरों के फुटेज व अन्य माध्यमों से सूत्र तलाश रही है।

करीब 7 हजार रु. कीमत के इन नोटों को कौन फेंककर गया, इसे लेकर आसपास के रहवासी कुछ नहीं बता पाए क्योंकि वे घरों में थे। कुछ अन्य द्वारा बाइक सवार युवकों, कार सवार लोगों तो किसी ने खिड़की से फेंकने जैसी आशंका जताई है। बहरहाल, सूचना मिलने पर नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची और लोगों को कहा कि नोट संक्रमित हो सकते हैं। कोई भी व्यक्ति नोटों को नहीं उठाएं। हालांकि इस बीच रहवासियों ने हवा में उड़ रहे नोट पर पत्थर रख दिए थे। बहरहाल, निगम ने सभी नोट को सेनिटाइज करक्षेत्र में केमिकल का छिड़काव किया और मामला पुलिस को सौंपा।

पुलिस काे आशंका है कि ये नोट कोई युवक जानबूझकर फेंककर गया है। ऐसी घटनाएं दोबारा न हों, इसलिए सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं, ताकि मनचलों को पकड़ा जा सके।

पुलिस ने नोटों को उठाने के लिए डण्डों का इस्तेमाल किया और प्लास्टिक की थैली में नोट रख जब्ती की कार्रवाई की। इस दौरान पुलिस ने रहवासियों से अपील की कि अगर किसी ने नोट उठाए हैं तो वह पुलिस को सूचना दे सकता है। उस पर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं होगी। अगर किसी बच्चे ने नोट उठाए हैं तो अभिभावक उनसे पूछ सकते हैं। पुलिस को शंका है कि उक्त हरकत किसी शरारती तत्व की हो सकती है। इससे नुकसान हो सकता है इसीलिए किसी को भी इस बारे में जानकारी हो तो इसकी सूचना पुलिस को दी जा सकती है। रहवासियों ने बताया कि वर्तमान में कुछ लोगों द्वारा नोटों पर थूक लगाकर फेंकने घटनाएं हुई हैं।

अपर आयुक्त रजनीश कसेरा ने बताया कि रहवासियों से बातचीत की गई है। नोट किसने फेंके हैं यह जानकारी फिलहाल नहीं मिल सकी है। निगम की ओर से सेनिटाइजेशन किया गया है। संभवत: क्षेत्र में अफवाह फैलाने की नीयत ऐसा कृत्य किया गया है। सीएसपी निहित उपाध्याय ने बताया कि किसी के नोट गिरे हैं या फेंके हैं, इसके सहित कई बिंदुओं पर तफ्तीश चल रही है। सीसीटीवी कैमरों के फुटेज से भी सूत्र तलाशे जा रहे हैं।

10 घंटे में दूसरी घटना, रानी सती गेट के पास मिले 500-500 रु. के नोट

उधर, ऐसी ही एक घटना गुरुवार शाम वायएन रोड स्थित रानी सती गेट के सामने हुई। यहां राह चलते लोगों ने सड़क 500-500 रु. के दो नोट पड़े देखे तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने इन नोटों को सेनिटाइज कर जब्ती में लिया। दोनों घटनाओं से अब यह तो स्पष्ट हो गया है कि ये नोट किसी के गिरे नहीं है बल्कि शरारती तत्वों द्वारा शहर के अलग-अलग स्थानों पर फेंके जा रहे हैं। इसके पीछे कारण ये नोट किसी संक्रमित व्यक्ति के भी हो सकते हैं या शहर का माहौल खराब करने के लिए ऐसी हरकतें की जा रही है। पुलिस यहां भी सीसीटीवी कैमरों के फुटेज से दोनों घटनाओं की कड़ी मिला रही है।

Next Post

अलर्ट! नई सूची में कोरोना के संक्रमण की चपेट में आने वाले 50 फीसदी युवा

Fri Apr 17 , 2020
संतोष शितोले | इंदौर एनआईबी और एमजीएम की रिपोर्ट्स में चौंकाने वाले तथ्य | 201 पॉजिटिव में से 98 युवा 30 साल से कम उम्र के शहर में कोरोना का कहर जारी है। अब तक 700 से ज्यादा मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जबकि 39 लोगों की मौत हो […]