श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपने पत्र में आखिर ऐसा क्या लिखा कि चर्चा का विषय बन गया

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

भारत में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देशभर में शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक 13,387 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 437 लोगों की अभी तक मौत हो चुकी है। लेकिन इन खबरों के बीच श्रीलंका क्रिकेट बीसीसीआई और आईपीएल के लिए आगे आया है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कहा है कि वो अपने देश में आईपीएल होस्ट करने के लिए तैयार है।

लॉकडाउन बढ़ने के साथ ही आईपीएल के 13वें सीजन पर मंडरा रहे संकट के बादल अब और काले हो गए हैं। लॉकडाउन बढ़ने के बाद बीसीसीआई ने गुरूवार को आधिकारिक तौर पर आईपीएल के 13वें सीजन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया। आईपीएल के 13वें सीजन की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी, लेकिन देश में कोरोना के शुरुआती मामलों को देखते हुए बीसीसीआई ने इसे 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया था। लेकिन जब दूसरी बार में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया तो बीसीसीआई ने आईपीएल के 13वें सीजन को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है।

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपने पत्र में क्या लिखा

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर आईपीएल की मेजबानी करने का प्रस्ताव दिया है। एक क्रिकेट वेबसाइट ने श्रीलंका क्रिकेट के अध्यक्ष शम्मी सिल्वा के हवाले से लिखा है, “आईपीएल रद्द करने से बीसीसीआई और उसके हितधारकों को 500 मिलियन डॉलर का नुकसान होगा। ऐसे में अगर वह अपने नुकसान की भरपाई दूसरे देश में टूर्नामेंट का आयोजन कराकर करना चाहते हैं तो हम आयोजन के लिए तैयार हैं।”

आगे श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि अगर वो श्रीलंका में खेलते हैं तो भारतीय दर्शकों के लिए टीवी पर मैच देखना आसान हो जाएगा। हम भारतीय बोर्ड का हमारे द्वारा भेजे गए प्रस्ताव के जवाब का इंतजार कर रहे हैं। अगर भारतीय बोर्ड यहां टूर्नामेंट खेलने को राजी हो जाते हैं तो हम उन्हें पेशेवर चिकित्सकों की सिफरिश के अनुसार सुविधाएं देने को तैयार हैं। यह श्रीलंका क्रिकेट के लिए भी आय का जरिया होगा।

बीसीसीआई ने दिया ऐसा जवाब जिसकी उम्मीद कम थी

भारत की तुलना में श्रीलंका में कोरोना वायरस के बेहद कम मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस पर आंकड़े बताने वाली वेबसाइट worldometers.info के मुताबिक श्रीलंका में कोरोना के कुल 238 मामले ही सामने आए हैं और केवल 7 लोगों की ही इस भयानक वायरस के चलते मौत हुई है।

इसका जवाब देते हुए अब बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बयान जारी करते हुए साफ कर दिया कि श्रीलंका के साथ इस मुद्दे पर अभी कोई बात नहीं हुई है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पुष्टि की है कि बोर्ड ने आगामी आईपीएल सीजन के बारे में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के साथ कोई चर्चा नहीं की है। अभी कोविड-19 महामारी से जूझ रही दुनिया में इस तरह के प्रस्ताव पर चर्चा करने का कोई मतलब नहीं है।

अधिकारी ने कहा, ”जब दुनिया में सब कुछ ठप्प पड़ा है तब बीसीसीआई कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है. वैसे भी एसएलसी से अभी तक इस बारे में कोई प्रस्ताव नहीं मिला तो फिर इस पर चर्चा का सवाल ही नहीं उठता।”

पहले भी श्रीलंका में हो चुका है आईपीएल

लोकसभा चुनाव होने के चलते दो बार आईपीएल का आयोजन देश से बाहर हो चुका है। 2009 में जहां इस टूर्नामेंट का दूसरा सीजन दक्षिण अफ्रीका में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ था तो 2014 में भी आमचुनाव के चलते यूएई ने शुरुआती कुछ मुकाबलों की मेजबानी की थी, हालांकि बाद में फिर 2 मई से दोबारा देश में मैच होने शुरू हो गए थे। सरकार ने श्रीलंका में किसी कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने के लिए वहां पर संक्रमित व्यक्तियों के शवों को जलाने जरूरी कर दिया है।


Next Post

कोरोना ने अब नौसेना पर भी किया घुसपैठ, 21 पॉजिटिव पाए गए

Sat Apr 18 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। इंडियन आर्मी के बाद अब इंडियन नेवी में भी कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। तेजी फैल रहे इस वायरस ने अब भारतीय नौसेना को भी अपनी जद में ले लिया है। नौसेना के जवान भी कोरोना से संक्रमित होने लगे हैं। भारतीय नौसेना के जवानों में […]