केन्द्रीय कर्मचारियों के रिटायरमेंट को लेकर फैलायी गयी खबर फर्ज़ी निकली

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।  

केंद्र सरकार ने रविवार यानी आज साफ कहा है कि किसी भी विभाग के कर्मचारियों की रिटायरमेंट की आयु में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। दरअसल कुछ रिपोर्टों में दावा किया गया था कि कोरोनो वायरस के प्रकोप के कारण उत्पन्न हुए आर्थिक संकट से निपटने के लिए केंद्र सरकार कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु घटाकर 50 करने की योजना बना रही है।

पीआईबी फैक्ट चेक ने अपने वेरिफाइड हैंडल से द सेन टाइम्स के आर्टिकल का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए इस खबर का गलत बताया है।

पीआईबी ने अपने ट्वीट में लिखा गया है, “एक वेब न्यूज पोर्टल ने दावा किया है कि कोरोवायरस जैसे संकट के समय में केंद्र सरकार के कर्मचारियों की रिटारमेंट की उम्र घटाकर 50 साल की जा सकती है। इस रिपोर्ट में किया गया दावा गलत है। केंद्र सरकार न तो ऐसी कोई योजना बना रही है और न ही ऐसी किसी योजना पर चर्चा की गई है।”

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने आज ऐसी संभावना जताने वाली रिपोर्टों को खारिज करते हुए कहा कि सरकार के किसी भी स्तर पर इस तरह का कोई कदम नहीं उठाया गया है और न ही कभी इस पर विचार किया गया है। इसे बार-बार दोहराया जा रहा है। मुझे नहीं पता कि यह कैसे और कहा से हुआ लेकिन ऐसे दावे बार-बार सामने आ रहे है। सरकार के कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की आयु को कम करने के लिए कभी कोई कदम नहीं उठाया है।

कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय ने 31 मार्च को एक बयान में कहा था “कोविड 19 के फैलने के परिणामस्वरूप सरकार द्वारा घोषित देशव्यापी लॉकडाउन के कारण उत्पन्न अभूतपूर्व स्थिति को देखते हुए, यह स्पष्ट किया जाता है कि केन्‍द्र सरकार के जो कर्मचारी 31 मार्च 2020 को उम्र के आधार पर सेवानिवृत्‍त होने वाले हैं, वह केन्‍द्र सरकार की सेवा से 31 मार्च 2020 को सेवानिवृत्‍त हो जाएंगे, भले ही वे घर से काम कर रहे हों या कार्यालय से काम कर रहे हों।”

दरअसल हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने एक करोड़ से अधिक कर्मचारियों और पेशेंनभोगियों को दिये जाने वाले डीए को 30 जून 2021 तक मौजूदा स्तर पर ही रोक दिया है। जिस वजह से ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं।

केंद्र सरकार के कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र घटाने से जुड़ी खबर फर्जी है। सरकार ऐसी किपसी भी योजना पर विचार नहीं कर रही है।


Next Post

न्यायाधीश खुद 2 हजार किलोमीटर चलकर पहुंचे अदालत

Mon Apr 27 , 2020
नई दिल्ली कोविड-19 संक्रमण के कारण पूरे देश में लॉकडाउन है। ट्रेनों से लेकर हवाई मार्ग तक सभी कुछ बंद है। ऐसी स्थिति में भी न्याय में देरी न हो, इसलिए देश के दो न्यायाधीशों ने पदभार संभालने के लिए सड़क मार्ग से दो हजार किलोमीटर तक का सफर तय […]