1918 में स्पेनिश फ्लू को हराने वाली महिला ने अब कोरोना को दी मात

मैड्रिड

106 वर्षीय एना, कोरोना से ठीक होने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला

‘जाको राखे साइयां मार सके ना कोई’, मतलब ये कि जिसकी रक्षा ऊपर वाला करता है, उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता। ये कहावत स्पेन में रहने वाली 106 वर्षीय बुजुर्ग महिला पर एकदम सटीक बैठती है। दरअसल, जिस महिला की बात हम कर रहे हैं, उन्होंने साल 1918 में आई घातक महामारी स्पेनिश फ्लू को तो हराया ही, लेकिन अब उन्होंने कोरोना वायरस को भी मात देकर सबको चौंका दिया है।

जी हां, 106 वर्षीय स्पेनिश महिला एना डेल वैले ने अपने जीवन काल में दो महामारियों पर विजय पाई है। एना डेल वैले की बहू पाकी सांचेज ने बताया कि उनकी सास ने पहले 1918 के स्पेनिश फ्लू को मात दिया, तब वह बच्ची थीं और अब हाल ही में वह कोरोना वायरस से पूरी तरह ठीक होकर अस्पताल से घर लौटी हैं। एना डेल गंभीर रूप से कोरोना वायरस से बीमार हो गई थीं। डॉक्टरों ने उन्हें कड़ी निगरानी में रखा था। एना डेल वैले के संघर्ष की कहानी तब शुरू हुई, जब उन्होंने एक बच्ची के रूप में स्पैनिश फ्लू महामारी से पार पाया। यह महामारी करीब 36 महीने (जनवरी 1918 से दिसंबर 1920) तक चली थी और एक तिहाई दुनिया इसकी चपेट में आई थी।

माना जा रहा है कि 106 वर्षीय एना, कोरोना वायरस से ठीक होने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला हैं। वह पिछले 8 साल से अल्कालो डेल वैले (अंडालुसिया, दक्षिणी स्पेन का क्षेत्र) के नर्सिंग होम में रह रही हैं।

अक्टूबर 1913 में हुआ था जन्म

एना का जन्म अक्टूबर 1913 में हुआ था और अब छह महीने बाद ही उनकी उम्र 107 साल हो जाएगी। वह स्पेन में महामारी के प्रकोप में आने वाली सबसे बुजुर्ग महिला हैं। इन्होंने अस्पताल में डॉक्टरों के साथ पूरा सहयोग किया और सभी नियमों का पालन किया। एना के अलावा 107 वर्षीय डच कोरोना वायरस पीड़ित कॉर्नेलिया रास दुनिया के सबसे ज्यादा उम्र के पुरुष मरीज हैं। स्पेन में एना के बाद दो अन्य महिलाएं हैं जिन्होंने 101 साल की उम्र में कोरोना वायरस को मात दिया है। बता दें कि स्पेन में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 22,524 पहुंच गई है। जबकि 92,355 मरीज अब तक ठीक होकर घर लौट गए हैं।

Next Post

कोरोना के खौफ से अपराध घटे, दशकों का रिकॉर्ड टूटा, अपराधों में 98% गिरावट

Sun Apr 26 , 2020
संजय त्रिपाठी | इंदौर एनसीआरबी के आंकड़े व संस्था पौरुष के सर्वे से खुलासा: सालों बाद चोरी, लूट, डकैती, चेन स्नेचिंग जैसी वारदातों से पुलिस को राहत अपराधों के मामले में मिनी मुंबई कहलाने वाले इंदौर ही नहीं बल्कि प्रदेश ने पिछले 30 दिनों में दशकों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। […]