फीस के लिए बना रहे दबाव सीएम को खून से लिखा खत

कानपुर

लॉकडाउन में स्कूलों की मनमर्जी

कोरोना महामारी में जारी लॉकडाउन में सरकारी नौकरी करने वालों को छोड़ लगभग सभी की अर्थव्यस्था चरमरा गई है। ऐसे में अब स्कूल वालों ने फीस भी मांगना शुरू कर दिया है, जिससे अभिभावक परेशान हैं। इसी को लेकर कानपुर के कुछ अभिभावकों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से पत्र लिखा गया है और मांग की है कि आदेश जारी किया जाए कि स्कूल अगले तीन महीने तक फीस न लें।

इन दिनों सरकारी व प्राइवेट स्कूल बंद हैं। इसके बावजूद अब स्कूल संचालकों ने अभिभावकों दबाव बनाना शुरू कर दिया है कि इन दिनों ऑनलाइन पढ़ाई कराई गई है, इस लिए बच्चों की फीस जमा की जाए। इसको लेकर अभिभावक काफी परेशान हैं कि काम-धाम बंद है और तीन माह की फीस कैसे एक साथ जमा की जाए।

पालकों ने कहा : 3 माह की फीस करें माफ

कानपुर उद्योग मंडल के टॉस्क फोर्स प्रभारी विनय वर्मा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से पत्र लिखा है और मांग की है कि सरकार आदेश जारी करे कि स्कूल संचालक तीन माह की बच्चों की फीस माफ करें। वर्मा का कहना है कि इससे अभिभावकों को राहत मिल सकेगी।

Next Post

सोनिया ने कहा देश की रीढ़ की हड्डी श्रमिक व कामगार हैं अब इनके टिकट का खर्च कांग्रेस उठाएगी

Mon May 4 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।   कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जारी लड़ाई में लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से मजदूर लंबे वक्त से फंसे हुए थे। अब जब करीब एक महीने बाद उन्हें घर जाने की इजाजत मिली, तो केंद्र सरकार ने रेल किराये का सारा खर्च मजदूरों से वसूलने का […]