छह बैंकों के साथ 411 करोड़ का धोखा कर तीन प्रमोटर देश से फरार

नई दिल्ली

एसबीआई की शिकायत से पहले ही भारत छोड़ फरार हुए राम देव इंटरनेशनल के बिजनसमैन

बैंक फ्रॉड का एक और नया मामला सामने आया है। राम देव इंटरनेशनल के तीन प्रमोटर्स भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई वाले छह बैंकों के कंसोर्टियम के साथ 411 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के बाद देश से फरार हो चुके हैं। सीबीआई ने हाल में इनके खिलाफ मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि एसबीआई द्वारा इनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराए जाने से पहले ही ये देश से भाग चुके हैं। सीबीआई ने हाल में पश्चिम एशियाई देशों और यूरोपीय देशों को बासमती चावल का निर्यात करने वाली कंपनी और उसके निदेशकों नरेश कुमार, सुरेश कुमार और संगीता के खिलाफ एसबीआई की शिकायत पर मामला दर्ज किया था। एसबीआई ने आरोप लगाया है कि इन लोगों ने उसको 173 करोड़ रुपए का चूना लगाया है।

एसबीआई ने शिकायत में कहा है कि कंपनी की करनाल जिले में तीन चावल मिलें, आठ छंटाई और ग्रेडिंग इकाइयां हैं। कंपनी ने व्यापार के लिए सऊदी अरब और दुबई में कार्यालय भी खोले हुए हैं। एसबीआई के अलावा कंपनी को ऋण देने वाले बैंकों में कैनरा बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आईडीबीआई, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और कॉर्पोरेशन बैंक शामिल हैं।

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन के चलते अभी तक इस मामले में छापेमारी की कार्रवाई नहीं की गई है। जांच एजेंसी इस मामले में आरोपियों को समन की प्रक्रिया शुरू करेगी। अधिकारियो ने कहा कि यदि आरोपी जांच में शामिल नहीं होते हैं, तो उनके खिलाफ उपयुक्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसबीआई की शिकायत के अनुसार इस कंपनी का खाता 27 जनवरी, 2016 को गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बन गया था।

Next Post

दस हजार की जान चली गई, पर राष्ट्रपति हैं कि मानते नहीं

Sun May 10 , 2020
ब्रासीलिया ब्राजील दुनिया में कोरोना का नया हॉटस्पॉट कोविड-19 के 1,45,800 से ज्यादा मामले सामने आ चुके है, लेकिन राष्ट्रपति बोलसोनारो अभी भी बेपरवाह ब्राजील दुनिया में कोरोना संक्रमण का नया हॉटस्पॉट बनकर उभरा है। यहां हर दिन संक्रमण के करीब 10,000 नए केस सामने आ रहे हैं। देश में […]