लॉकडाउन तोड़ने पर रोका तो पूरे मोहल्ले ने पुलिसकर्मियों को घेरकर किया हमला

नगर संवाददाता | इंदौर

पहले टाटपट्टी बाखल में घर आए स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला, फिर मंगलवार को आरोपी को पकड़ने पहुंची रावजी बाजार पुलिस को पहले लोगों ने रोका, पथराव किया, बाद में जुलूस निकालकर पुलिस के खिलाफ लगाए नारे

कोरोना महामारी को लेकर मेडिकल, पुलिस, प्रशासन व नगर निगम की टीमें खास तौर पर दिनरात रोकथाम में लगी हैं। पुलिस का मुख्य जोर लॉकडाउन का पालन करवाने में है, लेकिन कुछ लोग मान नहीं रहे। मंगलवार को लॉकडाउन उल्लंघन के एक मामले के आरोपी को पुलिस गिरफ्तार करने पहुंची तो क्षेत्र के लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। हमला करने वाले लोगों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल रहे। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर स्थिति किसी तरह नियंत्रित की। पुलिस ने घटना में शामिल आठ आरोपियों को हिरासत में लिया है।

दरअसल 15 मई को रावजी बाजार थाना क्षेत्र के प्रकाश का बगीचा में रहने वाला मो. यूनुस उर्फ यूनुस कबाड़ी लॉकडाउन का उल्लंघन कर कब्रिस्तान में फातिहा पढ़ने गया था। इस पर पुलिस जब उसे गिरफ्तार करने गई तो वह चकमा देकर भाग निकला था। पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज किया था और उसकी तलाश कर रही थी। मंगलवार दोपहर पुलिस को जानकारी मिली कि वह क्षेत्र में मौजूद है तो वह उसे गिरफ्तार करने पहुंची। इस बीच परिजन, वहीं रहने वाले उसके रिश्तेदारों और रहवासियों को इसकी सूचना मिली तो वे पहले से एकजुट हो गए। पुलिस के पहुंचते ही पहले बच्चों और महिलाओं ने हंगामा शुरू कर दिया।

अन्य थाना बल भी बुलाया : सूचना मिलने पर जूनी इंदौर सीएसपी दिशेष अग्रवाल मौके पर पहुंचे। स्थिति बिगड़ती देख अन्य थानों का बल भी बुला लिया गया। इस पर लोग और भी ज्यादा आक्रोशित हो गए और फिर पथराव शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ा।

समझाइश देने पर भी नहीं माने, पुलिस के साथ बदसलूकी

पुलिस ने लोगों को समझाइश दी और कहा कि आप लॉकडाउन में घरों में ही रहें तो वे नहीं माने। इस दौरान कुछ पुरुषों ने पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी की। पुलिस उन्हें पकड़ती, तब तक सभी ने नारेबाजी करते हुए पथराव शुरू कर दिया और फिर देखते ही देखते काफी लोग आ गए व पुलिसकर्मियों को गालियां बकने लगे।

सीसीटीवी फुटेज से हो रही उपद्रवियों की शिनाख्त

पुलिस के आक्रमक होते ही लोग इधर-उधर भागने लगे तो कुछ घरों में दुबक गए। मामले में पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखकर उपद्रवियों की शिनाख्त कर रही है। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

टाटपट्‌टी बाखल के बाद चौथी घटना

लॉकडाउन में पुलिस पर हमले की यह चौथी घटना है। गौरतलब है कि लॉकडाउन के शुरुआती दौर में इलाज के लिए टाटपट्टी बाखल में मेडिकल-पुलिस टीम पर हमला कर दिया था। इसके बाद चंदन नगर में इसी तरह की दो घटनाएं हुईं।

Next Post

भारत में मरीजों के स्वस्थ होने की दर अमेरिका से 20 गुना बेहतर

Wed May 20 , 2020
नई दिल्ली देश में कोरोना वायरस महामारी के फैलने की रफ्तार बढ़ती ही जा रही है। कुछ राज्यों में संक्रमण के आंकड़े लगातार बढ़ जा रहे हैं। इस बीच नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कहना है कि भारत में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर अमेरिका से […]