यूएस में मौतों का आंकड़ा 1 लाख के पार, 70 साल जंग लड़कर भी नहीं गंवाई इतनी जानें

वॉशिंगटन

अमेरिका में कोरोना का कहर… दुनियाभर में संक्रमण के कुल मामलों का 30 फीसदी से ज्यादा सिर्फ अमेरिका में, देश में महामारी के कारण 4 महीने में 1 लाख से ज्यादा मौतें हुईं

अमेरिका में कोरोना संक्रमण से मौतों का आंकड़ा 1 लाख से भी ज्यादा हो गया है। हालांकि वर्ल्डमीटर और कई अन्य वेबसाइट्स ने बुधवार को ही 1 लाख मौतें होने की घोषणा कर दी थी लेकिन अमेरिका का ऑफिशियल डेटा जारी करने वाली जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को इसकी घोषणा की है। अमेरिका ने बीते 70 सालों में कोरिया, वियतनाम, इराक और अफगानिस्तान में भीषण जंग लड़ी हैं लेकिन कोरोना से सिर्फ तीन महीने में उससे ज्यादा अमेरिकियों की मौतें हो चुकीं हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लगातार दावा कर रहे हैं कि अमेरिका से कोरोना संक्रमण का सबसे बुरा दौर गुजर गया है लेकिन बुधवार को भी यहां 20,000 से ज्यादा संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं और 1500 से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो गई है। अमेरिका में इस समय संक्रमण के 17 लाख से ज्यादा मामले हैं। वर्ल्ड वॉर-2 के बाद अमेरिका ने चार बड़े युद्धों का सामना किया है। इस दौरान जितने सैनिक मारे गए, कोरोना वायरस के चलते चार महीने में उससे ज्यादा लोगों की जान गई है। देश में संक्रमण का पहला मामला 21 जनवरी को मिला था। दुनियाभर के कुल संक्रमितों के 30% से ज्यादा मामले यहां हैं। अमेरिका में बीबीसी के पत्रकार जॉन सोपेल का कहना है कि कोरिया, वियतनाम, इराक और अफगानिस्तान में जितने अमेरिकी महिला-पुरुष सैनिकों की जान गई, उससे ज्यादा लोगों की मौत महामारी से हुई है। सोपेल ने बताया कि अगर कोई कोरोना से हुई मौतों की तुलना अमेरिका में कैंसर व सड़क हादसे में हुई मौतों से करें तो भी चौंकाने वाले परिणाम ही सामने आएंगे।

23 राज्यों ने ट्रंप प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया

अमेरिका में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आए हैं। मौतें भी सबसे ज्यादा हुई हैं। लेकिन, अगर मृत्युदर के हिसाब से देखें तो अमेरिका का नौवां स्थान आता है। आबादी के लिहाज से मौतों की तुलना के आधार पर बेल्जियम, ब्रिटेन और आयरलैंड जैसे देश अमेरिका से आगे हैं। न्यूज एजेंसी रायटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के 20 राज्यों में कोरोना के नए मरीजों में बढ़ोतरी हो रही है। यहां नॉर्थ कैरोलिना और विसकॉन्सिन में संक्रमण के मामले तेजी से सामने आए हैं।

कोविड-19 की दूसरी लहर से सामना को तैयार अमेरिकी सेना

कोविड-19 की दूसरी लहर के लिए अमेरिका सेना तैयार है। रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि सेना इस बार अधिक सहयोग देने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि सेना ने कोविड-19 से स्वस्थ हुए लोगों का एंटीबॉडी टेस्ट करना पहले ही शुरू कर दिया है ताकि यह पता चल सके कि वायरस को रोकने या इसके इलाज के लिए इन लोगों के प्लाजमा का उपयोग किया जा सके। नॉवेल कोरोना वायरस के कारण महामारी की दूसरी लहर के दोबारा आने की संभावना है। हाल में ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि यदि महामारी की दूसरी लहर आने पर देश बंद नहीं किया जाएगा। अमेरिका के सभी 50 राज्यों ने अपनी अर्थव्यवस्थाओं को गति देने के उद्देश्य से कोरोना वायरस प्रतिबंधों में ढील देने की योजना बनाने की शुरुआत कर दी है। अमेरिकी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सर्दी के मौसम में वायरस की दूसरी लहर आने की संभावना को लेकर चेतावनी दी है।

यहां सबसे ज्यादा मौतें, मृत्यु दर के हिसाब से पीछे

अमेरिका में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आए हैं। मौतें भी सबसे ज्यादा हुई हैं। लेकिन, अगर मृत्युदर के हिसाब से देखें तो अमेरिका का नौवां स्थान आता है। आबादी के लिहाज से मौतों की तुलना के आधार पर बेल्जियम, ब्रिटेन और आयरलैंड जैसे देश अमेरिका से आगे हैं। न्यूज एजेंसी रायटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के 20 राज्यों में कोरोना के नए मरीजों में बढ़ोतरी हो रही है। यहां नॉर्थ कैरोलिना और विसकॉन्सिन में संक्रमण के मामले तेजी से सामने आए हैं। न्यूयॉर्क अमेरिका में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं हैं।

Next Post

बोइंग 12 हजार कर्मचारियों की करेगी छंटनी

Fri May 29 , 2020
नई दिल्ली विमान बनाने वाली कंपनी का बड़ा ऐलान विमान बनाने वाली वैश्विक कंपनी बोइंग 12,000 से अधिक लोगों की छंटनी कर रही है। कोविड-19 संकट की वजह से यात्रा प्रतिबंधों के चलते विमानन उद्योग को बड़ा झटका है। कंपनी आगे और लोगों को भी नौकरी से निकाल सकती है। […]