बंदरों ने लैब टेक्नीशियन से छीने कोरोना मरीजों के टेस्ट सैंपल

मेरठ

मेरठ में बंदरों का आतंक

उत्तर प्रदेश कोरोना संक्रमण से जूझने के लिए लगातार अपनी चिकित्सा व्यवस्था दुरुस्त कर रहा है। प्रदेश में पिछले दो महीने में कोरोना संक्रमण को लेकर सैंपल टेस्टिंग में काफी तेजी देखने को मिल रही है। वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्यकर्मियों को अलग ही चुनौती से जूझना पड़ रहा है।

मेरठ में तो बंदरों ने पूरे मेडिकल कॉलेज को परेशान कर रखा है। मेडिकल कॉलेज में बंदर लगातार मरीजों, डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ को परेशान कर रहे हैं। शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज में उस समय अजीबो-गरीब स्थिति उत्पन्न हो गई, जब बंदरों ने एक लैब टेक्नीशियन से कोरोना जांच के लिए गए सैंपल ही छीन लिए। काफी मशक्कत के बाद भी बंदर नियंत्रित नहीं हुए और सभी सैंपल खराब हो गए। आखिरकार कोरोना जांच के लिए दोबारा सैंपल लिए गए। मामले में सीएमएस डॉ. धीरज बालियान ने बताया कि कोरोना जांच के लिए ये सैंपल ले जाये जा रहे थे, इसी दौरान बंदरों ने लैब टेक्नीशियन से सैंपल छीन लिए। उन्होंने कहा कि वन विभाग को सूचना के बाद भी बंदर पकड़े नहीं गए। अब दोबारा सैंपल लिए जा रहे हैं। बता दें मेरठ में बंदरों के आतंक का ये पहला मामला नहीं है। मेडिकल कॉलेज में कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जब या तो किसी मरीज का कोई सामान छीन लिया गया या किसी स्टाफ को बंदरों ने परेशान किया। यही नहीं चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में तो बंदरों से निपटने के लिए बाकायदा एक लंगूर भी तैनात किया गया, जिसे तनख्वाह भी दी जाती है. लेकिन नतीजा सिफर ही रहा।

Next Post

सिलावटजी! भगीरथ बनो, सांवेर का जलसंकट दूर करो -सीएम

Sat May 30 , 2020
विनोद शर्मा | इंदौर उपचुनाव से पहले सांवेर कांग्रेस में सेंध पटवारी के भाई सहित कई भाजपा में सांवेर विधानसभा को जीतने के साथ ही सरकार बनाए रखने के लिए प्रयासरत खुद मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने शुक्रवार को सांवेर के 50 से अधिक कांग्रेसियों को […]