कोरोना शीर्षासन

हरिद्वार।

दिव्य फॉर्मेसी ने कभी दावा नहीं किया कि उसने कोरोना की दवा बनाई है।

पतंजलि योगपीठ कोरोना की दवा ईजाद करने के अपने दावों से पलट गया है। उत्तराखंड आयुष विभाग को दिए जवाब में पतंजलि की दिव्य फार्मेसी ने ऐसी कोई दवा नहीं बनाने की बात कही है। 23 जून को दवा की लॉन्चिंग के दौरान योग गुरु बाबा रामदेव और पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने कोरोनिल, श्वसारि बटी और अणु तेल से कोरोना के उपचार का दावा किया था। इस पर 24 जून को उत्तराखंड आयुष विभाग ने पतंजलि को नोटिस जारी किया था।

23 जून… रामदेव का दावासन

पूरा देश जिस क्षण की प्रतीक्षा कर रहा था कि कहीं से कोरोना की दवा मिल जाए, तो आयुर्वेद की पहली दवा पतंजलि ने बना ली है। कोरोनिल और श्वसारि ने कोरोना ट्रायल में 100% सही नतीजे दिए। ट्रायल में 3 दिन में 69% मरीज ठीक हुए, जबकि 7 दिन में 100% मरीज ठीक हो गए।

नोटिस के बाद यू टर्न

दिव्य फॉर्मेसी ने कभी दावा नहीं किया कि उसने कोरोना की दवा बनाई है।

Next Post

प्रधानमंत्री ने रोकी ‘मंत्री’ सूची, फैसला आज

Tue Jun 30 , 2020
प्रजातंत्र ब्यूरो | इंदौर/भोपाल दो दिन की माथापच्ची के बाद प्रदेश मंत्रिमंडल की जिस सूची को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और संगठन के नेताओं ने अंतिम रूप दिया था, वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास जाकर रुक गई। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री द्वारा सूची को रोक दिए जाने से मंगलवार सुबह […]