विकास दुबे का दायां हाथ कहे जाने वाले प्रभात ने कहा ‘मुझे पुलिस वालों को मारने का अफसोस है’

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत मामले में हरियाणा पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। हरियाणा पुलिस ने इस मामले में फरीदाबाद से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

प्रभात के पास से 4 पिस्टल और कारतूस बरामद किये

इन तीन आरोपियों में एक विकास दुबे का खास और इस हत्याकांड में नामजद बताया जा रहा है। पुलिस ने विकास दुबे के साथी कार्तिकेय उर्फ प्रभात के कब्जे से 4 पिस्टल और कारतूस बरामद किये हैं। इनमें 2 पिस्टल यूपी पुलिस से लूटी गईं हैं।

कुख्यात अपराधी विकास दुबे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। विकास दुबे की दिल्ली-एनसीआर में खोज की जा रही है।

ऐसी कार्रवाई होगी जो कि पूरे देश के लिए नजीर बनेगी

बुधवार को एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने विकास दुबे को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की इसमें उन्होंने अब तक हुई कार्रवाई के संबंध में जानकारी देते हुए एडीजी ने कहा, “विकास दुबे जल्द ही गिरफ्त में आ जायेगा। इस मामले में ऐसी कार्रवाई होगी, जो पूरे देश के लिए नजीर बनेगी। पुलिसवालों की शहादत बेकार नहीं जाने देंगे। बदमाश पछताएंगे।”

उन्होंने आगे कहा कि चौबेपुर के सभी पुलिसवालों को हटा दिया गया है। मामले में शामिल हर एक आरोपी के खिलाफ कार्रवाई हो रही है। एडीजी ने कहा कि गौतमबुद्ध नगर के एक्सप्रेस-वे थाने में हुए एक एनकाउंटर और बुलंदशहर के सियाना में भी छापेमारी के बाद इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। बीती रात 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश श्यामू वाजपेयी और उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया गया है।

मुझे पुलिस वालों को मारने का अफसोस है

विकास के करीबी प्रभात ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि घटना वाली रात में वह विकास के घर पर था और उसने भी फायरिंग की थी। साथ ही उसने कहा, ‘मुझे पुलिस वालों को मारने का अफसोस है’।

फरीदाबाद पुलिस बुधवार को विकास का दायां हाथ कहे जाने वाले प्रभात को कोर्ट को पेश करने जा रही थी। इसी दौरान एक चैनल से बातचीत में प्रभात ने पुलिस वालों पर फायरिंग की बात स्वीकारी है। साथ ही उसने बताया कि वह झींझर, औरया होते हुए फरीदाबाद आया और कई दिन से यहां रूका था।

यूपी में घटते क्राइम ग्राफ के आंकड़े गिनाये

एडीजी प्रशांत कुमार ने यूपी में घटते क्राइम ग्राफ के आंकड़े गिनाये. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा कि इस साल डकैती के केस में करीब 38 फीसदी की कमी आयी है। लूट में 44.17 फीसदी की कमी आयी है।

हत्या के मामलों में करीब आठ फीसदी की कमी आयी है। फिरौती-अपहरण में 41 फीसदी की कमी आयी है। दहेज हत्या में 6.34 फीसदी की कमी आयी है।

Next Post

उज्जैन के महाकाल मंदिर में जाकर ये शख्स जोर से बोलने लगा, 'मैं ही विकास दुबे हूं वही कानपुर वाला'

Thu Jul 9 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। कानपुर के बिकरू में हुए शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे गुरुवार सुबह मध्यप्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है। कथित तौर पर कहा जा रहा है कि विकास महाकाल के दर्शन के लिए उज्जैन गया था। उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम उसे पिछले छह […]