‘कैमरा ट्रैप’ से बाघों की गणना, भारत ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली

बाघों के संरक्षण मामले में भारत ने एक नए तरीके का विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया है। बाघों की संख्या में दोगुनी बढ़ोतरी के साथ ही ऑल इंडिया टाइगर एस्टीमेशन (अखिल भारतीय बाघ अनुमान 2018) का कैमरा ट्रैप गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल हो गया है। इस उपलब्धि को एक महान क्षण बताते हुए, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शनिवार को ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि यह आत्मनिर्भर भारत का जीता जागता उदाहरण है, जिसे प्रधानमंत्री के शब्दों में संकल्प से सिद्धि के माध्यम से प्राप्त किया गया है। पर्यावरण मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने अपने लक्ष्य से चार वर्ष पूर्व ही बाघों की संख्या दोगुनी करने वाले अपने संकल्प को पूरा कर लिया है।

अखिल भारतीय बाघ अनुमान 2018 के चौथे चक्र में भारत में 2,967 बाघों या विश्व के कुल बाघों की 75 प्रतिशत संख्या का अनुमान लगाया गया है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की वेबसाइट के मुताबिक 2018-19 में आयोजित सर्वेक्षण का चौथा चक्र संसाधन और संकलित आंकड़े, दोनों के संदर्भ में यह अब तक का सबसे व्यापक सर्वेक्षण था। कैमरे को 141 ​​विभिन्न क्षेत्रों में 26,838 स्थानों पर लगाया गया था और 1,21,337 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र का सर्वेक्षण किया गया। वेबसाइट के मुताबिक कुल मिलाकर, कैमरे ने वन्यजीवों की 3,48,58,623 तस्वीरें लीं, जिनमें 76,651 बाघ की तस्वीरें थीं और 51,777 तेंदुए की तस्वीरें थीं, शेष अन्य जीवों की तस्वीरें थीं।

वेबसाइट ने कीर्तिमान के संदर्भ में कहा..

अभूतपूर्व रूप से कैमरा ट्रैप का  उपयोग करने के साथ-साथ, 2018 ‘स्टेटस ऑफ टाइगर्स इन इंडिया’ का मूल्यांकन व्यापक फुट सर्वेक्षण के माध्यम से भी किया गया, जिसमें 522,996 किमी (324,975 मील) का सफर तय किया गया और वनस्पति और खाद्य गोबर वाले 317,958 निवास स्थलों को शामिल किया गया।

Next Post

सरकार गिराने की साजिश, 2 भाजपा नेता अरेस्ट

Sun Jul 12 , 2020
जयपुर राजस्थान में हॉर्स ट्रेडिंग… एसओजी ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू की राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार को गिराने की कोशिशों के मामले में भाजपा के दो नेताओं का नाम सामने आया है। राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने पूछताछ के बाद दोनों […]