रसूखदारों की पार्टियों में नाबालिग बच्चियों के साथ सामूहिक सेक्स का पर्दाफाश

प्रजातंत्र ब्यूरो | भोपाल

भोपाल में सनसनीखेज कांड… 14 से 16 साल की बच्चियों का यौन शोषण करने वाला मुख्य आरोपी फरार, केस दर्ज

राजधानी में नाबालिग बच्चियों के साथ ग्रुप सेक्स का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने एक ऐसे हैवान के खिलाफ बलात्कार और यौन शोषण का मामला दर्ज किया है जो सिर्फ 14 से 16 साल की बच्चियों को ही अपना शिकार बनाता था। वह उन्हें रसूखदारों की पार्टियों में भी पेश करता था। आधा दर्जन बच्चियों को पुलिस ने बरामद कर लिया है और आरोपी के खिलाफ बलात्कार और यौन शोषण के साथ पास्को एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। भोपाल का यह सफेदपोश प्यारे मियां खुद को एक अखबार का मालिक बताते हुए कई ब्यूरोक्रेट के भी संपर्क में था। अभी वह फरार है, लेकिन पुलिस ने उसे नाबालिग बच्चियां उपलब्ध कराने वाली युवती को गिरफ्तार कर लिया है। प्यारे मियां का सुराग देने वाले को डीआईजी ने 10 हजार रुपए ईनाम की घोषणा की है।

मामला उजागर होने के बाद भोपाल के कई बड़े व्यापारी, उद्योगपति और बिल्डर दहशत में हैं। वह भी लगातार प्यारे मियां के साथ उसके फ्लैट के फार्म हाउस पर पार्टियां करते थे। पुलिस ने यदि मामले की गंभीरता से जांच की तो यह हनी ट्रैप से बड़ा कांड साबित हो सकता है। पुलिस के अनुसार कोहेफिजा निवासी प्यारे मियां नाबालिगों का दैहिक शोषण अपनी दलाल स्वीटी विश्वकर्मा के माध्यम से करता था। वह गरीब परिवारों की नाबालिग बच्चियों को शिकार बनाता था, जिन्हें पैसों की आवश्यकता होती थी। बच्चियों को दस हजार रुपए प्रतिमाह वेतन दिया जाता था। इतना ही नहीं यदि शारीरिक संबंध बनाते समय 68 साल के प्यारे मियां को कोई नाबालिक पसंद आ जाती थी तो उसे 1-2 हजार हजार रु. टिप के रूप में दिया जाता था। नाबालिग लड़कियां प्यारे मियां के शाहपुरा स्थित ऐशगाह नामक फ्लैट के अलावा रातीबड़ के फार्म हाउस पर भी जाती थी। वहां भी प्यारे मियां अपने कुछ दोस्तों के साथ उनका शोषण करता था।

ऐसे फूटा भांडा

रातीबड़ पुलिस के अनुसार नाबालिगों ने शनिवार रात साढ़े 12 बजे तक प्यारे मियां के शाहपुरा स्थित ऐशगाह फ्लैट पर पाट मनाई। पाट में काफी शराब पीने के बाद उन्होंने खाना खाया और दो स्कूटर से ईदगाह हिल्स जाने के लिए निकल गईं। नशा ज्यादा होने के कारण वह रास्ता भटक गईं और ईदगाह हिल्स जाने की बजाय भदभदा होते रातीबड़ की तरफ जाने लगीं। इस बीच पुलिस की गश्ती टीम ने संदेह के आधार पर उन्हें रोका। रात करीब डेढ़ बजे उन्हें रोका गया तो उन्होंने प्यारे मियां को कॉल किया। पुलिस ने उन्हें थाने ले जाकर पूछताछ की, लेकिन कुछ बताने के लिए तैयार नहीं हुईं। इस पर टीटी नगर सीएसपी उमेश तिवारी ने घटना की जानकारी सीडब्ल्यूसी और चाइल्ड लाइन को दी थी। सीडब्ल्यूसी और चाइल्ड लाइन की टीम वहां पहुंची। उसने नाबालिगों को काउंसलिंग के लिए अपने साथ लिया। सुबह तक काफी कोशिश के बाद बच्चियों ने बताया कि प्यारे मियां ने उनके साथ गलत किया है। जब तक घटना का खुलासा हुआ, प्यारे मियां फरार हो गया।

अब्बा कहलवा कर करता था दरिंदगी

प्यारे मियां जिन नाबालिगों के साथ दरिंदगी करता था, वह बच्चियां उसे अब्बा कहकर पुकारती थी। पुलिस की पूछताछ में दो लड़कियों ने बताया कि वे अब्बा के घर गई थीं। पुलिस का अनुमान है कि चाइल्ड लाइन और सीडब्ल्यूसी की काउंसलिंग में और भी लोगों के नाम सामने आ सकते हैं।

घर से पाट का कहकर गई थीं लड़कियां

पूछताछ में यह बात भी सामने आई कि नाबालिग घर से जन्मदिन पाट मनाने का कहकर निकली थीं। सभी नाबालिग ईदगाह हिल्स इलाके में रहती हैं। तीन नाबालिगों के साथ एक नाबालिग पहली बार पाट में शामिल हुई थी। उस नाबालिग से प्यारे मियां ने बलात्कार का प्रयास किया था।

काफी डरी हुई हैं बच्चियां

हमने बच्चियों के साथ लंबी बातचीत की है। उनकी काउंसलिंग करने के बाद उनसे तथ्य प्राप्त किए हैं। इसके बाद आरोपियों पर बलात्कार, पाक्सो सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। बच्चियों को सुरक्षित रखा गया है। उनकी काउंसलिंग की जाएगी। अभी बच्चियां काफी डरी हुई हैं।
अर्चना सहाय, डायरेक्टर, चाइल्ड लाइन

मददगारों को भी नहीं छोड़ेंगे

आरोपी को पकड़ने के लिए 4 टीम बनाई गई है। उसकी गिरफ्तारी के बाद सभी बिंदुओं पर जांच की जाएगी। यदि कोई अन्य बच्चियां भी उसका शिकार हुई हैं तो प्रकरण में यह तथ्य भी जोड़ा जाएगा। आरोपी की मदद करने वाले या उसके साथ इस अपराध में शामिल लोगों को भी बख्शा नहीं जाएगा।
इरशाद वली, डीआईजी, भोपाल

Next Post

कांग्रेस में पायलट को साइडलाइन होता देख दुखी हूं : सिंधिया

Mon Jul 13 , 2020
नई दिल्ली/जयपुर राजस्थान कांग्रेस के सियासी ड्रामे में रविवार को पुराने कांग्रेसी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया की एंट्री हुई। सिंधिया ने सचिन पायलट की नाराजगी को जायज बताया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘सचिन पायलट को भी राजस्थान सीएम द्वारा साइडलाइन और सताया जाता देख दुखी हूं। यह दिखाता है कि कांग्रेस में […]