एमपी के सीएम के बाद अब अमित शाह भी कोरोना पॉजिटिव खुद ट्वीट कर दी जानकारी

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तेजी से आसमान छू रहा है। इस बीच खबर आई है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस वायरस की चपेट में आ गए हैं।

उन्‍होंने रविवार शाम को एक ट्वीट में यह जानकारी दी। उनकी तबीयत तो ठीक है लेकिन उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है।

चिकित्सकों की टीम देखरेख कर रही है

शाह रविवार दोपहर करीब सवा चार बजे मेदांता अस्पताल पहुंचे। उन्हें आइसोलेट किया गया है। मेदांता अस्पताल की डॉ. सुशीला कटारिया के नेतृत्व में अन्य चिकित्सकों की टीम उनकी देखरेख कर रही है। मौके पर पुलिस सहित प्रशासन के आला अधिकारी भी मौजूद हैं।

शाह ने ट्वीट कर कहा, “कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है परन्तु डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहा हूँ। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आयें हैं, कृपया स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जाँच करवाएं।”

यूपी के कैबिनेट मंत्री का कोरोना के कारण मौत हो गई

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट करके अमित शाह के जल्द स्वास्थ होने की कामना की है। जेपी नड्डा ने ट्वीट किया है, ”माननीय गृहमंत्री अमित शाह के कोरोना संक्रमित होने का समाचार प्राप्त हुआ। मैं ईश्वर से उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं।”

दूसरी तरफ बीते कुछ समय से अस्पताल में इलाजरत अभिनेता अमिताभ बच्चन की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज ही उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री की कोरोना के कारण मौत हो गई। बीते कुछ समय से उनका इलाज चल रहा था।

अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह को भी इस कार्यक्रम में शिरकत करनी थी, लेकिन आज उनके कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अब वह इस कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेंगे।

भारत में कोरोना का हाल

भारत में रविवार को कोरोना महामारी से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 11 लाख से अधिक हो गई, जिनमें से 51,000 मरीज 24 घंटे में स्वस्थ हुए जो अभी तक सबसे अधिक संख्या है। इसके साथ ही स्वस्थ होने वाले लोगों की दर 65.44 फीसदी हो गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना वायरस से अब भी 5,67,730 लोग संक्रमित हैं, जो कुल मामलों का 32.43 प्रतिशत है। सभी संक्रमित लोग या तो अस्पतालों में चिकित्सा निगरानी में हैं या घर पर पृथक-वास में रह रहे हैं।

Next Post

आंध्र के कारसेवकों को सबसे आगे रखा गया, ताकि प्रधानमंत्री राव फायरिंग का आदेश न दे सकें...

Mon Aug 3 , 2020
चन्द्रकान्त जोशी 6 दिसंबर 1992 को क्या हुआ था अयोध्या में? 28 साल बाद जब उसी स्थान पर राम मंदिर का शिलान्यास हो रहा है, एक ऐसे पत्रकार की जुबानी जो पूरे घटनाक्रम का चश्मदीद रहा है। पहली बार सिर्फ “प्रजातंत्र’ में… मैं उज्जैन से 2 दिसंबर की शाम को […]