कोहरे के धुंध में आतंकियों ने बारामुला में जवानों पर किया हमला, तीन जवान शहीद

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

जम्मू-कश्मीर के बारामुला जिले में सुरक्षाबलों के एक दल पर आतंकियों ने हमला कर दिया। जिस वक्त हमला किया गया उस समय घना कोहरा था जिसके वजह से उन्हें आतंकियों के हमले का अंदाज़ा नहीं हुआ।

बारामुला जिले के क्रिरी क्षेत्र में सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त नाका पार्टी पर आतंकी हमले में तीन जवान शहीद हो गए हैं। सुरक्षाबलों पर आतंकियों की ओर से की गई फायरिंग में सीआरपीएफ के दो और जम्मू-कश्मीर के एक जवान शहीद हो गए हैं।

सीआरपीएफ की नाका पार्टी पर कई राउंड फायरिंग की गयी

इस हमले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसपीओ और केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स के 2 जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने पुलिस और सीआरपीएफ की ज्वाइंट नाका पार्टी पर कई राउंड फायरिंग की।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के इंस्पेक्टर जनरल विजय कुमार ने बताया, “हमले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) शहीद हो गए थे। वहीं सीआरपीएफ के दो जवान घायल हुए थे। इलाज के दौरान सीआरपीएफ जवानों ने भी दम तोड़ दिया।”

हमलावरों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू किया है

समाचार एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के अनुसार, बारामुला के क्रेरी क्षेत्र में एक बाग में छिपे आतंकियों ने पुलिस और सीआरपीएफ के एक जॉइंट नाका टीम को निशाना बनाया।

डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि आतंकवादियों ने घने कोहरे का फायदा उठाते हुए बाग से गोलीबारी की। हमले के बाद अतिरिक्त बल मौके पर पहुंच गए हैं और इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। हमलावरों को पकड़ने के लिए एक सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया है।

इस हमले के पीछे जैश का हाथ है

इससे पहले 14 अगस्त को श्रीनगर शहर के बाहरी इलाके नागम में एक पुलिस पार्टी पर हमला किया था। आतंकियों की ओर से की गई अंधाधुंध गोलीबारी में दो जवान शहीद हो गए थे। वहीं, इस आतंकी हमले में एक जवान घायल भी हुआ था। पुलिस के आईजीपी ने बताया कि इस हमले के पीछे जैश का हाथ है।

कश्मीर के आईडीपी विजय कुमार ने कहा था कि शुक्रवार को कश्मीर में पुलिस पार्टी पर हुए आतंकी हमले में जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है। उन्होंने कहा कि दो आतंकी आए और उन्होंने पुलिस पार्टी पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिसमें दो जवान शहीद हो गए।

हमने पूरे इलाके को घेर लिया है। उन्होंने आगे कहा कि हमने आतंकियों की पहचान कर ली है।  वे जैश के ग्रुप के हैं। वहां क्योंकि लोगों की आवाजही थी, इसलिए पुलिस ने फायरिंग नहीं ताकि नागरिकों को नुकसान न हो।

Next Post

आमिर खान आखिर क्यों मिले तुर्की की प्रथम महिला से जिसके कारण भारतीय यूजर्स उन्हें ट्रोल कर रहे हैं

Mon Aug 17 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। आमिर खान इन दिनों अपनी आनेवाली फिल्‍म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की शूटिंग के लिए तुर्की गए हुए हैं। इस बीच उन्होंने तुर्की की पहली महिला एमीन एर्दोगान से मुलाकात की। दोनों की मुलाकात की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रोल करने […]