इस महिला के साथ 2011 से हो रहा था रेप जिसमें फिल्म इंडस्ट्री से लेकर नेता भी शामिल, 139 लोगों पर हुआ मामला दर्ज

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। 

 

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से एक बड़े अपराध की खबर सामने आ रही है। इसमें एक महिला को पिछले कई सालों से जबरन डरा धमकाकर इस्तेमाल  किया जा रहा था।

महिला की स्थिति इस बात से लगाई जा सकती है कि महिला से यौन उत्पीड़न के मामले में 139 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

पूर्व पति के घरवालों ने भी उसका यौन उत्पीड़न किया

हैदराबाद में 25 साल की एक महिला ने आरोप लगाया है कि बीते कई साल में 139 से ज्यादा लोगों ने उसका यौन उत्पीड़न किया है। महिला की शिकायत के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

दरअसल पीड़ित महिला की साल 2010 में शादी हुई थी लेकिन साल भर के अंदर उसका तलाक हो गया। शिकायत में महिला ने यह आरोप भी लगाया है कि उसके पूर्व पति के घरवालों में भी कुछ ने उसका यौन उत्पीड़न किया।

पुंजागुट्टा पुलिस स्टेशन से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, “शिकायत के बाद हमने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच की जा रही है।”

42 पेज की एफआईआर दर्ज की गई है

शिकायत के बाद, आईपीसी की धाराओं और एससी / एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत एक मामला गुरुवार को दर्ज किया गया था और 42 पेज की एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईआर के साथ ही महिला को मेडिकल जांच के लिए भी भेज दिया गया था।

इस मामले में सवाल ये भी उठा कि इतने वर्षों बाद केस क्यों दर्ज कराया गया, जबकि मामला गंभीर था? इस पर महिला का कहना है कि उसे आरोपियों से डर था क्योंकि समय-समय पर उसे धमकाया जाता था। डर की वजह से वह पुलिस में नहीं गई और मुकदमा दर्ज होने में देर होती रही

महिला के अनुसार, पिछले कई वर्षों में 139 लोगों द्वारा धमकी दी गई और विभिन्न स्थानों पर उसका यौन शोषण किया गया। पुलिस ने कहा कि डर और दहशत और आरोपियों की धमकियों के कारण पुलिस शिकायत दर्ज करने में देरी हुई।

महिला के साथ करीब 5000 बार रेप किया है

जिन लोगों पर आरोप लगाए गए हैं उनमें फिल्म इंडस्ट्री के लोग, छात्र नेता, राजनेताओं के पीए, वकील, मीडियाकर्मी और बिजनेसमैन शामिल हैं। जिन्होंने महिला के साथ करीब 5000 बार रेप किया है। महिला ने कहा कि शादी के बाद उसके ससुराल वाले शारीरिक और यौन उत्पीड़न करने लगे और इस वजह से उसने तलाक ले लिया।

बाद में उसने अपने होमटाउन में एक कॉलेज में दाखिला लिया जहां उसे यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। उस वक्त उसने बात नहीं उठाई क्योंकि आरोपियों ने उसकी पिक्चर ले ली थी और वीडियो भी बना लिए थे। उसे जान से मारने की धमकी दी गई थी।

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की संबंधित धारा और एससी / एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के प्रावधानों के तहत गुरुवार को प्राथमिकी दर्ज की गई। पुलिस ने धारा 376 92), 509, 354, 354(a), 354(b), 354(c) के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक एनजीओ की मदद से इस केस में मामला दर्ज हो पाया है।

Next Post

इस मुस्लिम आबादी वाले देश में भगवान गणेश को करेंसी से लेकर जनजीवन में अहम जगह प्राप्त है

Sat Aug 22 , 2020
नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।  देशभर में सादगी के साथ गणेश चतुर्थी यानि की भगवान गणेश का जन्मोत्सव मनाने की तैयारी की गई है। आज सूर्यास्त के साथ ही श्रद्धालुओं द्वारा भगवान शिव की मूर्ति स्थापना की जाएगी। 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी पर गणेश प्रतिमा स्थापित कर उत्सव 10 दिनों तक […]