नेपाल के सात जिलों की जमीन पर चीन का कब्जा

काठमांडू

कृषि मंत्रालय के सर्वेक्षण विभाग की रिपोर्ट में खुलासा

चीन दोस्ती के बहाने नेपाल की भूमि पर लगातार कब्जा बढ़ाता जा रहा है। नेपाल के सर्वे विभाग के अनुसार चीन तिब्बत में चल रही सड़क निर्माण परियोजना के बहाने नेपाल की जमीन का अतिक्रमण कर रहा है। इस परियोजना में नेपाल अपनी कई हेक्टेयर जमीन गंवा चुका है। नेपाल के कृषि मंत्रालय के सर्वेक्षण विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार चीन ने सात सीमावर्ती जिलों में फैले कई स्थानों पर नेपाली भूमि पर अवैध कब्जा कर लिया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बीजिंग तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसकी वजह से नेपाल को आने वाले कुछ समय में कई तरीके से नुकसान उठाना पड़ सकता है। ग्लोबल वॉच एनालिसिस की रिपोर्ट की मानें तो, चीन के साथ संबंध रखने के चलते नेपाल अपनी स्वायत्तता और फैसले लेने की क्षमता को प्रभावित कर रहा है। यही वजह है कि प्रधानमंत्री ओली ने चीन के उकसावे में आकर भारत के खिलाफ कई टिप्पणियां की व भारत विरोधी नीतियों पर भी काम शुरू कर दिया। रोलैंड जैक्वार्ड ने अपने लेख में बताया है कि चीन की नीति है कि वह उन देशों के राजनीतिक वर्ग को भ्रष्ट करता है, जो आर्थिक रूप से मजबूत नहीं हैं।

वफादारों को फायदा पहुंचा रहा चीन

नेपाल तिब्बत के साथ एक लंबी सीमा साझा करता है और 20,000 से अधिक तिब्बतियों का घर है, जिनमें से कई दलाई लामा के 1959 में भारत में शरण लेने के बाद देश में आ रहे हैं। नेपाल सरकार और चीन के बीच बढ़ते संबंधों के साथ, तिब्बती शरणार्थियों को अपने शरणार्थी संघों के सदस्यों का चुनाव करने या दलाई लामा के जन्मदिन का जश्न मनाने के लिए रोक लगा दी जाती है। लेखक का कहना है कि काठमांडू में चीनी दूतावास लगातार वफादारों के एक नेटवर्क का निर्माण कर रहा है, और उन्हें दूतावास के लिए किए गए कामों के बहाने कई बार फायदा पहुंचाया जाता है।

 

Next Post

पोर्न स्टार को 33 लाख रु. बतौर हर्जाना देंगे राष्ट्रपति ट्रंप

Mon Aug 24 , 2020
वाशिंगटन कोर्ट के आदेश से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति, चुनाव में नुकसान का डर नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले डोनाल्ड ट्रंप मुश्किल में घिर गए हैं। अमेरिका की एक अदालत ने ट्रंप को बड़ा झटका दिया है। जिसके बाद अब उन्हें पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स को 44,100 यूएस […]