स्‍टाइलिश लूक में दिखना है आकर्षक तो आजमाए ये टिप्‍स

बॉडीकॉन ड्रेस सिर्फ एक्ट्रेस पर ही अच्छी नहीं लगती बल्कि आप पर भी ये ड्रेस अच्छी लग सकती है। स्लिम बॉडी वाली महिलाओं पर ये ड्रेस बेहद अच्छी लगती है लेकिन जिन महिलाओं की बॉडी मॉडरेट होती है उन पर भी ये ड्रेस खूबसूरत दिख सकती है।

हमें एक्ट्रेसेस पर बॉडीकॉन ड्रेस बेहद अच्छी लगती है। ऐक्ट्रेसेस फैशन के मामले में बेहद आगे रहती हैं और खुद को ज्यादा स्लिम और फिट रखती हैं इसलिए उन पर ये ड्रेस ज्यादा फबती है। बॉडीकॉन ड्रेस स्लिम फिट ड्रेस है जिसे पहन कर आप स्लिम दिखती हैं। इस स्लिम-फिटिंग ड्रेस का फैशन सौ साल पुराना है। इस ड्रेस के इतिहास की बात करें तो सन 1930 से लेकर 1970 तक बॉडीकॉन ड्रेस सुपर ग्लैमरस फैशन की निशानी बन गई थी, जिसका फैशन आज भी बरकरार है। इस ड्रेस को पहनना थोड़ा मुश्किल काम है, ये पैंटी लाइन्स से लेकर बेली रोल्स तक, फिटेड रहती है जिसे खींचने में मुश्किल हो सकती है। आप भी इस ड्रेस को आसानी से पहनना चाहती हैं तो कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें।

मोटा कपड़ा चुने:
बॉडीकॉन ड्रेस खरीदते समय, ऐसे कपड़े का चुनाव करें जिसका फैब्रिक्स मोटा और मजबूत हो। नाजुक और पतला कपड़े शरीर पर बहुत अधिक जकड़ सकता हैं।

प्रिंटेड बॉडीकॉन ड्रेस खरीदें:
कोशिश करें कि प्रिंटेड बॉडीकॉन ड्रेस ही खरीदें। प्रिंटेड ड्रेस में पैंटी और ब्रा लाइन नहीं दिखती जो देखने में भद्दी लगती हैं। प्रिंटिड ड्रेस अंडरवियर लाइनों को कम करने में मदद करती है। प्लेन फैब्रिक आपको ऊप्स मोमेंट में डाल सकते हैं। इससे बचने के लिए प्रिंट वाली ड्रेस बेस्ट ऑप्शन होगी।

लेअर के साथ पहने:
अगर आप बॉडीकॉन ड्रेस को सही तरीके से पहनने के बाद भी कंफर्टेबल नहीं फील कर रही हैं तो इसे लेयर के साथ स्टाइल करें। इस ड्रेस के साथ आप जैकेट पहन कर अपने स्टाइल स्टेटमेंट को बैलेंस कर सकती हैं।

एक अच्छा शेपवियर खरीदें:
पर्फेक्ट बॉडी शेप के लिए शेपवियर का इस्तेमाल किया जाता है। शेपवियर एक तरह की इनर लाइन है, इसे आप अपनी ड्रेस के मुताबिक बॉडी को फिट रखने के लिए पहन सकती है। शेपवियर आउट लाइन को स्मूथ करता है साथ ही फ्लैटरिंग शेप भी देता है। आप भी पार्टी में कुछ हट कर दिखना चाहना चाहते हैं तो बेस्ट शेपवियर खरीदें।

Next Post

ट्रैक्टर रैली : बेकाबू किसानों का हंगामा, किसान नेता भी प्रदर्शनकारियों को रोकने में बेबस

Tue Jan 26 , 2021
नई दिल्ली । केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 61 दिन से ज्यादा दिनों तक शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे किसानों का आंदोलन आज हिंसक और बेकाबू हो गया। गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली निकालने के दौरान किसान हिंसा पर उतर आए हैं। स्थिति यह […]