दाग धब्‍बे से पाना है छूटकारा तो यह उपाय होंगे फायदेमंद

बेदाग और खूबसूरत त्वचा पाना हर लड़की का सपना होता है। सुंदर और बेदाग स्किन से ही आज के समय में सुन्दरता को परिभाषित करते है। आपकी अगर हेल्थी त्वचा रहेगी तो आप खुद बखुद सुंदर नजर आने लगेंगी। स्वस्थ त्वचा आपके खानपान, दैनिक दिनचर्या पर आश्रित रहती है।

एक शोध के मुताबिक देश की लड़कियां अपनी त्वचा को लेकर अधिक सजग रहती है। आपको बता दें, वैसे तो इस दुनिया में भगवान ने सबको खूबसूरत बनाया है और हम भगवान की छवि में बनाएं गए सुंदर कृति है, बोला जाये तो हम उनका मास्टरपीस ही है।

इसलिए बाहरी खूबसूरती के पीछे बहुत ज्यादा दौड़ना नहीं चाहिए, आपकी दिल की खूबसूरती फेस पर साफ नजर आती है. अगर आप बेदाग त्वचा पाना चाहती है तो इन घरेलु उपाय को अपनाएं…

बेसन का लाभ
बेसन को पानी संग मिलाकर इस लेप को पंद्रह मिनिट तक लगा कर रखे, जिससे तेलीय स्किन से छुटकारा मिल जाएगा और फेस पर चमक आ जाती हैं। गर्मी में सिर्फ बेसन को फेस पर मलने से शीतलता महसूस होती हैं। साबुन के बदले बेसन को पानी अथवा दूध में मिलाकर बने घोल से नहाए इससे स्किन में निखार बना रहता हैं।

शहद
वैसे तो शहद में बहुत अच्छा मोइस्चर रहता है, जो त्वचा को हर प्रक्कर के इन्फेक्शन से भी बचाता है। शहद को अपनी त्वचा में लगायें, उसे कुछ देर के लिए सूखने दे, फिर गुनगुने पानी से अच्छे से धो लें। ये सरल सी टेकनिक आप हर दिन, या एक दिन छोड़ एक दिन कर सकते है। इससे त्वचा सॉफ्ट चमकदार हो जाएगी। इसके अलावा दो स्पून दूध में एक स्पून शहद मिलाएं। साथ में एक बेसन को मिला लें। फेस पर लगाकर बिस मिनट छोड़ दें, फिर पानी से अच्छे से धो लें। सप्ताह में दो बार ऐसा करें बेस्ट नतीजा मिलेगा।

एलोवेरा
एलोवेरा से त्वचा को बेहद लाभ है। इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज रहती है, जो त्वचा के सारे बैक्टीरिया को दूर कर देता है। इससे त्वचा में होने वाली खुजली की दिक्कत दूर हो जाती है। साथ ही दाग धब्बे भी दूर हो जाते है।

Next Post

सिंघु बॉर्डर को खाली कराने को लेकर स्थानीय लोगों का प्रदर्शन, पांच पुलिसकर्मी घायल

Fri Jan 29 , 2021
नई दिल्ली । कृषि कानूनों के विरोध में सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनरत किसानों से धरनास्थल खाली करवाने की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने शुक्रवार दोपहर को प्रदर्शन किया। इस दौरान दोनों पक्षों में झड़प हुई और एक-दूसरे पर पथराव भी किया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि किसानों […]