इक्वेटोरियल गिनी में विस्फोट, मौतों का आंकड़ा पहुंचा 98, जांच के आदेश

मालबा। अफ्रीकी देश इक्वेटोरियल गिनी के शहर बाटा में विस्फोट से मरने वालों की संख्या बढ़कर 98 पहुंच गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि घटना के 48 घंटे बाद भी मलबे में शवों की तलाश जारी है। मरने वालों की संख्‍या अभी बढ़ सकती है। मंत्रालय ने कहा है कि विस्‍फोट में मरने वालों की संख्‍या शुरुआती अनुमानों से तीन गुना अधिक है। स्‍थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार बच्‍चों को टूटी हुई कंक्रीट और मुड़ी हुई धातु के ढेर के नीचे से निकाला जा रहा है। इस रिपोर्ट के अनुसर चादर में लिपटे शव सड़क के किनारे पड़े हुए हैं।

उधर, इक्वेटोरियल गिनी के राष्‍ट्रपति तियोदोरा ओबियांग न्‍गुमे ने इस घटना पर रोष व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने कहा कि विस्‍फोट के लिए जिम्‍मेदार लोगों पर सख्‍त कार्रवाई होगी। राष्‍ट्रपति तियोदोरा ने घटना के जांच के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि डायनामाइट से निपटने में लापरवाही के कारण विस्‍फोट की घटना हुई है। राष्‍ट्रपति ने कहा कि विस्‍फोट में बाटा शहर के सभी इमारतों एवं घरों को भारी नुकसान पहुंचा है। उनका अनुमान है कि इससे करीब 250,000 लोग प्रभावित हुए हैं।

स्‍थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रविवार की दोपहर सैन्‍य परिसर में चार विस्‍फोट हुए हैं। इन विस्‍फोटों ने गिनी के सबसे बड़ शहर और मुख्‍य आर्थिक केंद्र को हिला कर रख दिया। रविवार को स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने अनुमान लगाया गया था कि विस्‍फोटों में मरने वालों की संख्‍या 31 के आसपास होगी, लेकिन यह संख्‍या तीन गुना से अधिक निकल गई। मरने वालों में यहां के नागरिक और सैन्‍यकर्मी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने उप-राष्ट्रपति पद का हवाला देते हुए ट्विटर पर लिखा है कि इस घटना में कम से कम 615 लोग घायल हुए हैं। इनमें से 299 को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।

इक्वेटोरियल गिनी के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने ट्विटर पर कहा कि विस्फोट पीड़ितों के उपचार के लिए मनोचिकित्सकों, मनोवैज्ञानिकों और नर्सों से मिलकर एक मानसिक स्वास्थ्य ब्रिगेड तैयार किया गया है। मंत्रालय ने कहा कि यह नुकसान केवल शारीरिक और आर्थिक नहीं, बल्कि इसका मानसिक रूप से घातक असर पड़ा है।

Next Post

मंगलवार के दिन हनुमान जी की ऐसे करें पूजा, दूर हो सकती है सभी परेंशानी

Tue Mar 9 , 2021
आज का दिन मंगलवार (Tuesday) है और धार्मिक मान्‍यता के अनुसार आज का दिन संकटमोचन हनुमान जी को समर्पित है । मान्यता के अनुसार मंगलवार (Tuesday) का संबंध जहां मंगल (Mars) ग्रह से है वहीं इसे हनुमान जी का दिन भी कहा जाता है। इतना ही नहीं मंगल ग्रह (Mars) […]