शहनाज गिल ने अपना बेबी बंप फ्लॉन्ट करती हुई फोटो की शेयर

नई दिल्‍ली। सोशल मीडिया पर इन दिनों दिलजीत दोसांझ(Diljit Dosanjh) और शहनाज गिल(Shehnaaz Gill) की तस्वीरें छाई हुई हैं. बता दें कि इन तस्वीरों में शहनाज अपना बेबी बंप फ्लांट कर रही हैं. वहीं दिलजीत (Diljit Dosanjh) प्यार से अपने हाथ शहनाज(Shehnaaz Gill) के बेबी बंप (Baby bump) पर रखे हुए है. वायरल हो रही तस्वीरों को देखकर फैंस हैरान हैं और पूछ रहे हैं कि आखिर ये कब हुआ?

दिलजीत दोसांझ (Diljit Dosanjh) और शहनाज गिल (Shehnaaz Gill) जल्द ही पंजाबी फिल्म में नजर आएंगे. बता दें कि इन्होंने अपनी अपकमिंग पंजाबी फिल्म, ‘हौंसला रख (Honsla Rakh) ’ की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं. जिसकी शूटिंग फिलहाल कनाडा में चल रही है, तस्वीरों में, शहनाज़ फ्लोरल ड्रेस में अपना बेबी बंप फ्लांट करते हुए नजर आ रही हैं.जबकि दिलजीत ने ग्रे सूट के साथ पीला स्वेटर और ब्राइट पगड़ी पहनी हुई है.

 

सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीर में, दिलजीत ने शहनाज़ को गले लगाते हुए उनके बेबी बंप पर अपना हाथ रखा हुआ है. वहीं तस्वीर के बैकग्राउंट में भी बेबी शावर के जैसी डेकोरेशन की गई है. इस तस्वीर में दिलजीत और शहनाज दोनों एक दूध की बोतल और शहद के जार के कटआउट के साथ पोज दे रहे हैं. शहनाज गिल ने इस तस्वीर को शेयर करने के साथ कैप्शन में लिखा है, एक्साइटेड???? @diljitdosanjh @thindmotionfimls #Shoot Mode On# HonslaRakh. वही दिलजीत ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, # HonslaRakh इस दशहरा 15 अक्टूबर 2021 को.

फैंस दिलजीत और शहनाज की इस तस्वीर पर जमकर लाइक्स और कमेंट्स कर रहे हैं. एक यूजर ने हार्ट और फायर की इमोजी पोस्ट की है. किसी ने लिखा है, ‘ सुपर एक्साइटेड.’ एक यूजर ने लिखा है, ‘ मैं इस तस्वीर को देखकर बहुत खुश हूं, जस्ट वाओ, अमेजिंग.’

बता दें कि पंजाबी फिल्म ‘हौसला रख’ में सोनम बाजवा भी हैं. पिछले कुछ दिनों से, दिलजीत सेट्स से फिल्म की वीडियो और तस्वीरें शेयर कर फैंस को लगातार अपडेट कर रहे हैं कि पंजाबी फिल्म की शूटिंग पूरी तरह से चल रही है. गौरतलब है कि इस फिल्म में दिलजीत एक्टिंग ही नहीं कर रहे हैं, बल्कि वह दलजीत थिंद के साथ इसका सह-निर्माण भी कर रहे हैं, इस फिल्म को अमरजीत सिंह सरोन ने निर्देशित किया है.

Next Post

आकांक्षा की झील

Sat Mar 13 , 2021
– हरीश भादानी 11 जून 1933 राजस्थान के बीकानेर में जन्म। अधूरे गीत, सपन की गली, हंसिनी याद की, सन्नाटे के शिलाखंड पर, आड़ी तानें-सीधी तानें आदि प्रमुख कृतियां। 2 अक्तूबर 2009 को निधन। काव्यांश आकांक्षा की झील सामने आकांक्षा की झील की हिलकती पर्त भूरी दूरियों के थूथनों पर […]