आप भी डार्क सर्कल की समस्‍या से हैं परेंशान तो इन टिप्‍स से पाएं निजात

आंखो के नीचे काले घेरें होने की समस्‍या आम हो गई है लेकिन आंखों पर डार्क सर्कल की समस्‍या होने से चेहरे की सुंदरता में दाग लग जाता है। पर्याप्त नींद न लेने, रातभर कंप्यूटर पर बैठे रहना, तनाव लेना व अन्य कई कारणों से आंखों के नीचे काले घेरे नजर आने लगते है जिससे खूबसूरती भी फीकी पड़ जाती है। डार्क सर्कल्स को कम करने के लिए बाजार में कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स आते हैं लेकिन इनके साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू टिप्स देने जा रहे हैं जिससे आपके डार्क सर्कल्स कम हो जाएंगे और निखार भी बरकराक रहेगा ।

स्क्रब बनाने की सामग्री
आलू, बेसन, दूध, चावल का आटा

बनाने की विधि
सबसे पहले आलू को छीलकर कद्दूकस कर लें। इसके बाद इसमें बेसन और दूध को डालकर अच्छे से मिक्स कर लें। इसमें चावल का आटा डाल लें अगर ये कुछ ज्यादा ही सुखा हो गया है को थोड़ा सा दूध और डाल लें। अब इसे साफ चेहरे पर अच्छी तरह से लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें। इसके बाद 10-15 मिनट लगाकर रहने के बाद इसे हल्के से रगड़ते हुए साफ पानी से धो लें। इससे चेहरे पर डार्क सर्कल्स और झुर्रियां कम हो जाती हैं।

फायदें
डार्क सर्कल दूर करने के लिए आलू का भी प्रयोग किया जा सकता है। आलू के रस को भी नींबू की कुछ बूंदों के साथ मिला लें। इस मिश्रण को रूई की सहायता से आंखों के नीचे लगाने से काले घेरे समाप्त हो जाएंगे।

ठंडे टी-बैग्स के इस्तेमाल से भी डार्क सर्कल जल्दी समाप्त हो जाते हैं। टी-बैग को कुछ देर पानी में डुबोकर रख दें। उसके बाद इसे फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। कुछ देर बाद इसे निकालकर आंखों पर रखकर लेट जाएं। 10 मिनट तक रोज ऐसा करने से फायदा होगा।

ठंडे दूध के लेप से भी आंखों के नीचे का कालापन दूर हो जाता है। कच्चे दूध को ठंडा होने के लिए रख दें। उसके बाद कॉटन की मदद से उसे आंखों के नीचे लगाएं। ऐसे दिन में दो बार करने से जल्दी फायदा होगा।

Next Post

राकेश टिकैत पहुंचे बंगाल, किसान महापंचायत में बोला बीजेपी पर हमला

Sat Mar 13 , 2021
कोलकाता । भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने शनिवार को बंगाल पहुंचते ही भाजपा पर निशाना साधा है। यहां कोलकाता में वाममोर्चा किसान संगठनों की ओर से आयोजित हुई किसान महापंचायत के दौरान मीडिया से मुखातिब टिकैत ने लोगों से आह्वान किया कि बंगाल में किसी भी […]