मुकेश अंबानी मामला : एनआईए ने किया मुंबई पुलिस अधिकारी वाझे को गिरफ्तार

मुंबई । राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मुंबई स्थित उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक पदार्थ से भरी स्कॉर्पियो प्लांट करने के षड्यंत्र मामले में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाझे को गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार देर रात गिरफ्तारी से पहले जांच एजेंसी उनसे 12 घंटे तक पूछताछ करती रही।

एनआईए के अधिकारियों ने बताया कि विस्फोटक पदार्थ को प्लांट करने के मामले में शनिवार सुबह सचिन वाझे को जांच के लिए बुलाया गया था। वह पहले जांच की कमान संभाल रहे थे और स्कॉर्पियो का इस्तेमाल करने के लिए उनका नाम सामने आया था। एनआईए का कहना है कि मामले में उनकी संलिप्तता सामने आई है।

सचिन वाझे ने 25 फरवरी को कारमाइकल रोड (एंटीलिया के पास) पर विस्फोटक पदार्थ से लदे स्कॉर्पियो लगाने वाले समूह का हिस्सा होने की बात कबूल की है। एनआईए के हवाले से खबर आई है कि वाझे को आईपीसी की धारा 286, 465, 473, 506 (2), 120-बी और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908 की धारा 4 (ए) (बी) (आई) के तहत गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि मुंबई के व्यापारी मनसुख हिरेन की मौत के मामले में एटीएस और एनआईए ने सचिन वाझे से पूछताछ की। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की ओर से लगाए गए आरोपों के बाद सरकार ने विस्फोटक पदार्थ से लदी कार के मामले में जांच अधिकारी बनाए गए वाझे का तबादला कर दिया था।

इस मामले में स्कॉर्पियो के मालिक बताए जा रहे मनसुख हिरेन की मौत के बाद उनकी पत्नी ने भी सचिन वाझे पर हत्या का आरोप लगाया था, जिसके बाद लगातार सचिन की गिरफ्तारी की मांग उठ रही थी।

मुंबई पुलिस में एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में मशहूर रहे वाझे ने ठाणे सेशन कोर्ट में अग्रिम जमानत की याजिका भी दायर की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया।

Next Post

कोरोना से पहले ही डरे दर्शक क्यूँ डरें ‘रूही’ से

Sun Mar 14 , 2021
बातें फिल्मों की | सिनेमाघरों के सन्नाटे को तोड़ने के लिए महाशिवरात्रि के दिन रिलीज़ हुई दिनेश विजान की रूही से उम्मीद बंधी थी। मगर निर्माता निर्देशक पर स्त्री की सफलता को दुबारा भुनाने का भूत इस कदर सवार था कि कोरोना से डरे लोगों को उनकी यह हॉरर कॉमेडी […]