दिग्विजय के ट्वीट पर नरोत्तम मिश्रा का पलटवार, कहा- उनके मन में गोडसे और मुंह में गांधी रहते हैं

भोपाल। भारत सरकार द्वारा पाकिस्तान को कोरोना वैक्सीन देने पर राजनीति शुरू हो गई है। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पाकिस्तान को कोरोना वैक्सीन देने को लेकर ट्वीट कर मोदी सरकार पर हमला बोला है। वहीं उनके ट्वीट पर प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि दिग्विजय सिंह मुसलमानों को बरगलाना चाहते हैं। इसलिए ऐसी बातें कर रहे हैं।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान को वैक्सीन देने पर उंगली उठाकर दिग्विजय सिंह जी देश के मुस्लिमों को बरगलाना चाहते हैं। उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में ‘विश्व गुरु’ के रूप में भारत के बढ़ते कदम नहीं सुहा रहे हैं। भाजपा मुस्लिमों की नहीं आतंकवाद की मानसिकता की विरोधी है। मंत्री मिश्रा ने तंज कसते हुए कहा कि उनके मन में गोडसे और मुंह में गांधी रहते हैं। मंत्री मिश्रा ने आगे कहा कि वैक्सीन सिर्फ पाकिस्तान को नहीं 65 देशों को दे रहे। इस पहल पर आज भारत की तारीफ हो रही है। आज हर देश मोदी के कुशल नेतृत्व की तारीफ कर रही हैं।

कांग्रेस के वचन पत्र पर साधा निशाना
वहीं नगर निगम चुनाव से पहले कांग्रेस के वचन पत्र को लेकर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस नगरीय निकाय चुनाव के लिए वचन पत्र की बात करने से पहले विधानसभा चुनाव में की गईं घोषणाओं का हिसाब तो जनता को बताए। उसने प्रदेश के किसानों और युवाओं से जो वादे किए थे उनका क्या हुआ? वैसे ये जो पब्लिक है सब जानती है…!

ममता दीदी राजनीतिक पाखंड कर रही
इस दौरान गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ममता बनर्जी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि दीदी का पांव टूटा था या प्लास्टर झूठा था। ममता बेनर्जी दीदी, आपके उस डॉक्टर की पूरे देश को जरूरत है जिसने 24 घंटे में आपके पैर की टूटी हड्डी जोड़ दी। प्लास्टर उतारकर क्रेप बैंडेज बांध दिया। उस डॉक्टर से देश के सभी डॉक्टरों का मार्गदर्शन जरूर कराइए। ममता बेनर्जी अब खुद को घायल बाघिन बताकर किसे डराना चाह रही हैं? वे बंगाल में भाजपा के 134 कार्यकर्ताओं को पहले ही शहीद करा चुकी हैं। क्या अब आदमखोर होने का संकेत दे रही हैं।(हि.स.)

Next Post

निकाय चुनाव में आरक्षण पर इंदौर हाई कोर्ट ने भी दिया स्टे 

Mon Mar 15 , 2021
इंदौर। नगर निकाय चुनाव में आरक्षण को लेकर ग्वालियर हाईकोर्ट पहले ही स्टे दे चुकी है। वहीं, सोमवार को इंदौर हाई कोर्ट ने भी नगर निकाय चुनाव आरक्षण को लेकर जारी नोटिफिकेशन को लेकर दायर की गई याचिका पर स्टे दे दिया है। कोर्ट का कहना है कि बार-बार एक […]