बालों में कंडीशनर करतें समय न करें ये गलतियां, बालो को हो सकता है नुकसान

कई लोग बाल को धोने के बाद कंडीशनर (Conditioner) का इस्तेमाल नहीं करते हैं। कई बार हम इतनी जल्दी में रहते हैं कि बाल में कंडीशनर नहीं लगाते हैं। इसकी वजह से बाल रूखे और बेजान नजर आते है, वहीं कुछ लोगों के बाल कंडीशनर लगाने की वजह से चिपचिपे हो जाते हैं। अगर आपके बाल भी कंडीशनर लगाने के बाद चिपकते हैं तो आप कंडीशनर लगाने के दौरान कुछ गलतियांं कर रही हैं जिसकी वजह से ऐसा हो रहा है। आइए जानते हैं उन मिस्टेक के बारे में।

जब आप कंडीशनर को स्कैल्प में लगाते हैं तो आपके बाल ज्यादा चिपचिपे हो जाते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सक्लैप से सीबम ऑयल निकलता है जो बालों की जड़ों को नरिश करने का काम करता है। इसकी वजह से आपके बाल चिपचिपे हो जाते हैं। इससे बचने के लिए कंडीशनर को स्कैल्प पर नहीं बालों पर करीब एक मिनट तक लगाएं रखना है और फिर पानी से धो लेना है।

बालों को स्वस्थ और मुलायम रखने के लिए कंडीशनिंग करना न भूलें। कंडीशनर नहीं लगाने से आपके बाल बहुत ज्यादा उलझते हैं। हालांकि जरूरत से ज्यादा हेयर केयर प्रोडक्ट लगाने से बालों में चिपचिपाहट आ जाती है। इसलिए आप सही मात्रा में कंडीशनर का इस्तेमाल करें।

जिस तरह आप बालों के टाइप के हिसाब से शैंपू लगाते हैं, उसी तरह कंडीशनर भी बालों के टाइप के अनुसार लगाएं। अगर आपके बाल पतले हैं तो माइल्ड कंडीशनर का इस्तेमाल करना चाहिए। अगर आप पतले बालों में रोजाना कंडीशनर का इस्तेमाल करेंगे तो बाल खराब और बेजान हो जाएंगे। इसलिए हमेशा अच्छे कंडीशनर का इस्तेमाल करें ताकि बालों को कोई नुकसान न हों।

बालों में कुछ समय तक कंडीशनर लगाएं रखें। अगर आप बालों में कंडीशनर लगाकर तुरंत धो देते हैं तो कोई फायदा नहीं होगा। इसलिए बालों में कंडीशनर लगाकर 4 से 5 मिनट तक छोड़ दें। इससे आपके बाल हाइड्रेटेड और चमकदार नजर आएंगे। बालों की डीप कंडीशनिंग के लिए करीब 15 से 30 मिनट तक मास्क लगाएं रखें और फिर बालों को धोएं ।

Next Post

डीपी पांडे बने जम्मू-कश्मीर की चिनार कॉर्प्स के कमांडर

Wed Mar 17 , 2021
नई दिल्ली । लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने सैन्य संचालन महानिदेशक (डीजीएमओ) बनने के बाद बुधवार को लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे को जम्मू-कश्मीर की चिनार कॉर्प्स के कमांडर का कार्यभार सौंप दिया है। अब तक डीजीएमओ रहे लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह संघा को सेना मुख्यालय में उप प्रमुख (रणनीति) बनाया […]