मुश्किलों में फंसे बाबर आजम, लाहौर कोर्ट ने केस दर्ज करने का दिया आदेश

लाहौर। लाहौर कोर्ट ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बाबर आजम पर केस दर्ज करने का आदेश दिया है।

दरअसल,बाबर पर लाहौर की एक महिला हमीजा मुख्तार ने पिछले साल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ब्लैकमेलिंग और प्रताड़ित करने के संगीन आरोप लगाए थे। इसके बाद उन्होंने कोर्ट की शरण ली थी।

कोर्ट ने शिकायत सुनने के बाद पुलिस को फौरन मामले की जांच करने का आदेश दिया था। हालांकि, तब वो केस दर्ज नहीं हो सका था क्योंकि बाबर आजम के वकील ने लाहौर हाई कोर्ट से इस पर स्टे ऑर्डर ले लिया था। हाई कोर्ट ने मामले पर 22 मार्च तक के लिए सुनवाई पर रोक लगा दी थी।

हालांकि, उसके बाद मुख्तार ने फेडरल इंवेस्टिगेटिंग एजेंसी (एफआईए) में अपनी रिपोर्ट दर्ज कराई। यहां लिखाई अपनी रिपोर्ट में उसने एक नई बात ये जोड़ दी कि उसे अंजाने नंबर और लोगों से जान से मारने की धमकी और संदेश फोन पर मिल रहे हैं एफआईए ने जब मामले की छानबीन की तो पाया कि उनमें से एक नंबर आजम के नाम पर रजिस्टर्ड है।

इसके बाद एफआईए ने बाबर आजम को पेश होने का नोटिस भेजा पर वो एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए। उनकी जगह उनके भाई फैजल आजम पेश हुए, जिन्होंने एजेंसी से थोड़ा वक्त मांगा। आजम जब खुद उपस्थित नहीं हुए तो एफआईए ने इसी के आधार पर अपनी वास्तविक रिपोर्ट तैयार की। अब लाहौर हाई कोर्ट के जज हामिद हुसैन ने गुरुवार को एफआईए को इस केस में आगे बढ़ने का आदेश दिया है और आरोपी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने को कहा है।

Next Post

कोरोना वायरस को रोकने पंजाब सरकार ने फिर लगायी कड़ी पाबंदियां

Fri Mar 19 , 2021
चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में बढ़ रहे कोरोना (COVID-19) के मामलों को लेकर कुछ और प्रतिबंधों का एलान किया है। राज्य में 31 मार्च तक शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने तथा सिनेमा हाल व मॉल की क्षमता पर प्रतिबंध लगाने के आदेश दिए गए हैं। […]