बंगाल : पहले चरण के चुनाव प्रचार का थमा शोर, शनिवार को होगी वोटिंग

कोलकाता । पश्चिम बंगाल (West Bengal) में पहले चरण में 30 विधानसभा सीटों (Assembly seats) पर होने वाले चुनाव के लिए चुनाव प्रचार (Election Campaign) का शोर आज शाम पांच बजे थम गया। यहां 27 मार्च को मतदान (vote) होना है। चुनाव आयोग (election Commission) ने इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली है।

बताया गया कि पहले चरण के 30 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान (vote) शांतिपूर्वक कराने के लिए 684 कंपनी केंद्रीय बलों की तैनाती की गई है। पहले चरण में पुरुलिया, बांकुरा, झारग्राम, पूर्वी मेदिनीपुर और पश्चिम मेदिनीपुर की 30 विधानसभा सीटों पर मतदान (vote) होना है। इन पांच जिलों में 7,034 मतदान केन्द्रों पर 10,288 बूथ बनाए गए हैं।

आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि झारग्राम में उग्रवादी गतिविधियों को देखते हुए चुनाव आयोग ने यहां हर बूथ पर 11 जवानों की तैनाती का निर्णय लिया है। यह प्रदेश में हुए किसी भी चुनाव में अब तक की सबसे अधिक तैनाती है। अन्य जिलों में हर बूथ पर औसतन छह जवान तैनात रहेंगे।

सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (Congress), भाजपा (BJP), माकपा-कांग्रेस (CPI-Congress) गठबंधन समेत निर्दलीय उम्मीदवारों को मिलाकर कुल 191 लोगों ने नामांकन दाखिल किया है। पहले चरण में 21 महिला उम्मीदवार हैं जबकि पुरुष उम्मीदवारों की संख्या 171 है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सभी ने अपने नामांकन के साथ अपने खिलाफ लंबित मुकदमों की जानकारी भी दी है। उसके मुताबिक 191 उम्मीदवारों में से 48 के खिलाफ आपराधिक मामले हैं, जिनमें से 42 के खिलाफ गंभीर मामले हैं। इसमें माकपा के 10, भाजपा के 12, तृणमूल कांग्रेस के 10 और कांग्रेस के दो उम्मीदवार शामिल हैं।12 उम्मीदवारों के खिलाफ महिलाओं पर अत्याचार, आठ के खिलाफ हत्या और 19 के खिलाफ हत्या की कोशिश के मामले दर्ज हैं। पहले चरण में 30 में से सात निर्वाचन क्षेत्र संवेदनशील हैं।

मैदान में 19 करोड़पति उम्मीदवार
-191 में से 19 उम्मीदवार करोड़पति हैं, जिनमें तृणमूल (Trinamool) के नौ, भाजपा के चार, माकपा के दो, कांग्रेस के दो और एसयूसीआइ-कम्युनिस्ट व बसपा का एक-एक उम्मीदवार शामिल हैं। इन सभी की घोषित संपत्ति एक करोड़ से ज्यादा है। पहले चरण के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 43.77 लाख रुपये है। दलगत तृणमूल उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 89.68 लाख, भाजपा उम्मीदवारों की 85.28 लाख, एसयूसीआइ-कम्युनिस्ट (SUCI-Communist) उम्मीदवारों की 21.56 लाख, माकपा उम्मीदवारों की 41.10 लाख और कांग्रेस उम्मीदवारों की 80.50 लाख है। पटाशपुर सीट से भाजपा के अंबुजाक्षा महंती सबसे अमीर उम्मीदवार हैं, जिनकी कुल संपत्ति 10,70,21,114 रुपये है। सबसे कम संपत्ति वाले दो उम्मीदवार हैं, जिनकी कुल संपत्ति 500 रुपये है। ये दोनों एसयूसीआइ-कम्युनिस्ट के हैं- मानबाजार से स्वपन कुमार मुर्मु और बीनपुर से राजीव मुदी। चार उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जिनकी संपत्ति शून्य हैं। इनमें बलरामपुर से बसपा की आनंदी टुडु व एसयूसीआइ-कम्युनिस्ट के दीपक कुमार, जयपुर से एसयूसीआइ-कम्युनिस्ट के भागीरथ महतो और पुरुलिया से बसपा के मानस सरदार शामिल हैं। उनके पास चल व अचल संपत्ति के नाम पर कुछ भी नहीं है।

Next Post

कोरोना से बचाव, अब ‘इंडिया फर्स्ट’ की नीति

Thu Mar 25 , 2021
– डॉ. प्रभात ओझा यह टिप्पणी करने तक आधिकारिक पुष्टि का इंतजार था। खबर थी कि भारत की ओर से अन्य देशों को भेजे जाने वाली वैक्सीन फिलहाल नहीं पहुंच सकेगी। हालांकि यह भी कहा गया कि वैक्सीन भेजने पर रोक की जगह अपने यहां की जरूरतों को प्राथमिकता देने […]