फाल्गुन मास में इस दिन है प्रदोष व्रत, जानें पूजा विधि व शुभ मुहूर्त

कल यानि 26 मार्च को पड़ रहा है मार्च महीने (Month of march) का दूसरा प्रदोष व्रत। हिंदू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन मास (Falgun months) की शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को यह व्रत किया जाएगा। हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat) की काफी महिमा बतायी गई है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान शिव इस समय कैलाश पर स्थित चांदी के भवन में तांडव करते हैं. भक्तों के लिए ये व्रत बहुत मंगलकारी और मनोकामनाओं को पूरा करने वाला होता है । इस दिन देवो के देव महादेव की पूजा की जाती है। मान्यता के अनुसार, इस दिन विधि विधान से पूजा करने और व्रत रखने से भक्तों की हर मनोकामना पूरी हो जाती है। भक्तों की भक्ति को देख भगवान शिव (Lord Shiva) प्रसन्न हो जाते हैं और अपनी विशेष कृपा उनपर बनाए रखते हैं। दिन के अनुसार ही प्रदोष व्रत का नाम होता है। ऐसे में इस व्रत को शुक्र प्रदोष व्रत कहा जाता है। पढ़ते हैं प्रदोष व्रत की पूजा विधि।

प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त:
प्रदोष व्रत का शुभ मुहूर्त- 26 मार्च शुक्रवार, शाम 6 बजकर 36 मिनट से रात्रि 8 बजकर 56 मिनट तक
26 मार्च 2021- त्रयोदशी तिथि प्रारम्भ: सुबह 08 बजकर 21 मिनट से
27 मार्च 2021-त्रयोदशी का समापन- सुबह 06 बजकर 11 मिनट पर.

प्रदोष व्रत पर इस तरह करें पूजा:
सुबह जल्दी उठ कर स्‍नान करें । इसके बाद पवित्र होकर पीले रंग के वस्‍त्र धारण करें इस दिन प्रदोष काल (Pradosh Kaal) में पूजा की जानी चाहिए। यह काल सूर्यास्त के बाद आता है। इस दिन शिव मंदिर (Shiva Temple) जाना चाहिए। यहां पर शिवजी का जलाभिषेक करना चाहिए। साथ ही व्रत का संकल्प लेना चाहिए। फिर शिवजी (Shiva) को उनकी प्रिय चीजों का भोग लगाना चाहिए। उन्हें बेलपत्र, धूप, दीप नैवेद्य आदि सामग्री अर्पित करें। फिर शिवजी की आरती करें और चालीसा का भी पाठ करें। शिवजी के मंत्रों (Mantras of shivji) का भी जाप करें। इस पूरे दिन फलाहार करना चाहिए। या फिर बिना कुछ खाए भी आप यह व्रत कर सकते हैं। व्रत खत्म होने के बाद भोजन ग्रहण करें।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

Next Post

बंगाल से मलेरिया और डेंगू तभी जाएगा, जब दीदी जाएंगी : अमित शाह

Thu Mar 25 , 2021
कोलकाता । भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने बंगाल में सरकार बनाने के लिए चुनाव प्रचार पर जोर लगा रखा है। पहले चरण के लिये प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को पुरुलिया के बाघमुंडी क्रिकेट मैदान पर जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा […]