पीयूष गोयल ने कहा, रेलवे की सफलता भविष्य में राष्ट्र की सफलता को परिभाषित करेगी

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे की सफलता भविष्य में राष्ट्र की सफलता को परिभाषित करेगी। यह बात रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को रेलवे बोर्ड सदस्यों और जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों और मंडल रेल प्रबंधकों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए कही।

कोविड-19 महामारी का उल्लेख करते हुए गोयल ने कहा रेलवे के लिए यह साल सबसे चुनौतीपूर्ण साल था। देश में एक साल लाकडाउन लगा रहा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 ने रेलवे को मजबूती से उभरने और बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया। इससे रेलवे की मानसिकता बदल गई है। रेलवे में नई तकनीकों और नवाचार के उपयोग ने नए मानक और बेंचमार्क बनाए हैं।

गोयल ने कहा कि यह रेलवे के भाग्य और भविष्य को फिर से लिखने का समय है जो स्व-स्थाई, समय का पाबंद, यात्री अनुकूल सुरक्षित, हरा और व्यवसायों की पहली पसंद है। उन्होंने कहा कि 1223 मीट्रिक टन अधिकतम माल ढुलाई राष्ट्र की सकारात्मकता का संदेश है। इस वर्ष 5900 किलोमीटर विद्युतीकरण किया गया। यह भारतीय रेलवे द्वारा प्राप्त अब तक का सबसे अधिक विद्युतीकरण है।

पीयूष गोयल ने रेलवे अधिकारियों और कर्मचारियों को लोडिंग बढ़ाने के लिए महामारी के दौरान अतिरिक्त असाधारण प्रयास करने के लिए बधाई दी। उन्होंने सुरक्षा उपायों को अपनाने पर भी जोर दिया और रेलवे अधिकारियों को उसी की ओर सक्रिय कदम उठाने का निर्देश दिया।

उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे ने इस साल मार्च माह में माल ढुलाई, कमाई और गति के मामले में उच्च स्तर को बनाए रखा है। इससे पिछले साल के कुल संचयी माल आंकड़ों को पार करने की उम्मीद है। पिछले वर्ष के लिए माल ढुलाई 112358.83 करोड़ रुपये की तुलना में वर्ष 2020-21 के लिए माल ढुलाई राजस्व 114652.47 करोड़ रुपये है। यह 2 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि है।

Next Post

ऑस्ट्रेलिया: 'गो फॉर जीरो' तकनीक से कोरोना के मरीजों में आ रही गिरावट, जानें कैसे?

Sat Mar 27 , 2021
सिडनी। ऑस्ट्रेलिया(Australia) के विक्टोरिया (Victoria) राज्य ने सार्वजनिक सभाओं में 100 फीसदी लोगों की उपस्थिति को अनुमति दे दी है। ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया (Victoria) में एक महीने से कोरोना(Corona) का एक भी मामला सामने नहीं आया है। अधिकारियों का कहना है कि विक्टोरिया में औपचारिक तौर पर कोरोना खत्म हो […]