– जावेद अनीस अक्टूबर 2009 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बक्सवाहा में ऑस्ट्रेलिया की हीरा कंपनी रियो टिन्टो के हीरा सेम्पल प्रोसेसिंग प्लांट का उद्घाटन करते हुये कहा था कि जल्दी ही इस क्षेत्र में उच्च कोटि का हीरा मिलने की संभावना है, जिससे क्षेत्र का विकास होगा, आर्थिक […]

– निशान्त ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के कारण होने वाले जलवायु परिवर्तन ने हीटवेव होने की संभावना कम से कम 150 गुना अधिक कर दी। कनाडा और अमेरिका की जनता बेतहाशा चढ़ते पारे की शक्ल में जिस परेशानी से ग़ुज़र रही है, उसके लिए वो सीधे तौर पर ज़िम्मेदार है। दरअसल […]

– निर्मल रानी भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम से जब यह सवाल किया गया कि आप स्वयं को किस उपाधि के साथ संबोधित कराना पसंद करेंगे ? वैज्ञानिक,मिसाइल मैन,पूर्व राष्ट्रपति या कुछ और ? इसपर कलाम साहब का उत्तर था कि मैं अपने नाम के साथ […]

– सुरेश हिंदुस्तानी भारत में प्रामाणिक बयानों का अपने हिसाब से अर्थ निकालना एक परिपाटी-सी बन गई है। विसंगति यह है कि जो प्रचार किया जाता है, उसका मूल बयान से कोई सरोकार नहीं होता। इसी को भ्रम फैलाने वाली राजनीति कहा जाता है। अभी हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक […]

– डॉ. वंदना सेन जल के अभाव में वसुंधरा सूख रही है। पेड़ आत्महत्या कर रहे हैं। नदियां समाप्ति की ओर हैं। कुएं, बावड़ी रीत गए हैं। यह एक ऐसा भयानक संकट है, जिसको हम जानते हुए भी अनदेखा कर रहे हैं। अगर इसी प्रकार से चलता रहा तो आने […]

– डॉ. रमेश ठाकुर 15 कैबिनेट और 28 राज्य मंत्रियों के साथ बड़े निराले अंदाज में मोदी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार हुआ। शपथ ग्रहण का समय छह बजे था लेकिन तबतक तेज आंधी की भांति हलचलें मची रही। मंत्रिमंडल विस्तार से चर्चा, मंत्रियों को हटाए जाने को लेकर होने […]

– ऋतुपर्ण दवे हिन्दी फिल्मों के ट्रेजेडी किंग। बेहतरीन कलाकार, बेहद अनुशासित और जिम्मेदार शख्सियत। वो अकेले हिन्दी फिल्मों के ऐसे जीवन्त किरदार थे जिनकी नकल कर बिना छुपाए लोग फख्र से कहते थे कि हमने दिलीप जी की कॉपी की है। वो यूसुफ खान से दिलीप कुमार बने लेकिन […]

– आर.के. सिन्हा भारत से बाहर किसी देश में जाकर बसने की हसरत तो लंबे समय से लाखों हिन्दुस्तानियों के दिलों में रही है। उन्हें लगता है कि भारत से बाहर किसी अन्य देश में जाकर बसना स्वर्ग से साक्षात्कार करने के समान ही है। वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी […]

– डॉ. वेदप्रताप वैदिक भाजपा सरकार ने अपने कुछ नए राज्यपाल और नए मंत्री लगभग एक साथ नियुक्त कर दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पिछली पारी में तीन बार अपने मंत्रिमंडल में फेर-बदल किया था। अब इस दूसरी पारी में यह पहला फेरबदल है। मैं समझता हूं कि […]

– ललित गर्ग गांधी के तीन बंदरों की तरह-वक्त देखता नहीं, अनुमान लगाता है। वक्त बोलता नहीं, संदेश देता है। वक्त सुनता नहीं, महसूस करता है। आदमी तब सच बोलता है, जब किसी ओर से उसे छुपा नहीं सकता, पर वक्त सदैव ही सच को उद्घाटित कर देता है। हम […]